Breaking News

किसानों को खाली खेतों में बिना पानी के जुताई करने की अपील

Appeal to farmers for plowing free water in empty fields

भवानीगढ़ के गांव सकरौदी की पंचायत व ग्रामीणों की अनूठी पहल

भवानीगढ़/ संगरूर (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब राज्य में लगातार गिर रहा भूजल स्तर आने वाली पीढ़ी के लिए बेहद खतरनाक स्थिति पैदा कर सकता है। पानी का दुरूपयोग होता रहा तो एक दिन पंजाब में पानी खत्म हो जाएगा व राज्य रेगिस्तान बन जाएगा। संगरूर जिले की बात करें तो अधिकतर सब डिवीजन डार्क जोन के दायरे में आ रहे हैं, जहां पानी का स्तर काफी नीचे पहुंच चुका है।

खेतों में बढ़ती पानी के ट्यूबवेलों की संख्या व लगातार जमीन में से निकाला जा रहा पानी इस स्थिति के लिए जिम्मेदार है। पानी के गिरते स्तर पर चिंता जाहिर करते इसे बचाने के लिए भवानीगढ़ ब्लॉक के गांव सकरौदी की पंचायत व ग्राम निवासियों आगे कदम आगे बढ़ाए हैं। गांव की सरपंच दलजीत कौर के पति जीवन सिंह ने बताया कि गांव की पंचायत व युवाओं ने यह पहल की है कि वह क्षेत्र के गांवों में घर-घर जाकर किसानों को खाली पड़े खेतों में पानी छोड़ने की बजाए, पानी के बिना ही जुताई करने की अपील करेंगे।

फसलों के पालन-पोषण के लिए तो किसानों को पानी का उपयोग करना तो जरूरी है, कितु खाली खेतों में गर्मी में मोटरें चलाए रखना आने वाली पीढ़ियों के लिए खतरे की घंटी है। क्योंकि पानी का स्तर दिन-प्रतिदिन नीचे गिरने के कारण संगरूर जिला पहले ही डार्क जोन में आ चुका है। किसान वर्ग सहित हर एक मनुष्य को पानी का संयम से उपयोग करते हुए भविष्य के लिए सचेत होना बेहद जरूरी है, ताकि आगामी पीढ़ी को बचाया जा सके। उन्होंने ग्रामीणों को पंचायतों का साथ देने की अपील की।

धरती के नीचे पानी के गिर रहे स्तर को बचाना समय की मुख्य मांग है, अब भी यदि समय पर पानी के दुरूपयोग को न रोका गया तो हमें भविष्य में पछताना पड़ेगा। गांव सकरौदी निवासियों द्वारा पानी को बचाने को लेकर लोगों को जागरूक करने की मुहिम की वह प्रशंसा करते हैं।
डॉ. कुलदीप ढिल्लों,  ब्लॉक खेतीबाड़ी अफसर

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top