सचखंडवासी अमरसिंह इन्सां के नमित नामचर्चा आयोजित

0
AmarSingh INSAN's Namit Namcharchal organized

अमरसिंह इन्सां ने शरीर व नेत्रदान करके निभाया था मानवता फर्ज

  • नामचर्चा में पहुंची साध-संगत ने दी शरीरदानी को श्रद्धांजद्धि

केसरीसिंहपुर (बाबूलाल/सच कहूँ न्यूज)। ब्लाक के गांव 16-17 एच घंजातिया के नेत्र व शरीरदानी प्रेमी अमर सिंह इन्सां उर्फ काका सिंह जोकि कुछ दिन पूर्व अपनी सांसारिक यात्रा पूरी करके मालिक के चरणो में सचखंड जा विराजे थे। उनके नमित नामचर्चा उनके निवास स्थान पर सम्पन्न हुई। इस अवसर पर ब्लॉक भंगीदास केवल इन्सां ने विनती का शब्द बोलकर नामचर्चा की शुरूआत की। कविराज अंग्रेज इन्सां, गौरव इन्सां, लखविंद्र इन्सां, नाजम इन्सां, लविश इन्सां, गुरविंद्र इन्सां आदि ने भक्तिमय शब्दों का गुणगान किया ।

 28 एमएल के भाई पोला सिंह ने साध-संगत को जन्म मरण के बारे में विस्तार रूप से बताया। भाई गुरदीप इन्सां ने पवित्र ग्रंथ की व्याख्या की। नामचर्चा में प्रदेश के 45 मैंबर भाई व बहनें, ब्लॉक के जिम्मेवार भाई व बहन, लंगर समिति के जिम्मेवार, रिश्तेदार हजारों की तादात में साध-संगत ने भाग लिया। 45 मैंबर कमेटी के भाई रणजीत सिंह इन्सां ने बताया कि शरीर व नेत्रदानी अमरसिंह इन्सां हमेशा इंसानियत की सेवा के लिए तत्पर रहने वाले सेवादार थे। उन्होंने जीते जी मानवता भलाई की सेवा में हमेशा आगे रहे तथा मरने के बाद मेडिकल रिसर्च के लिए शरीरदान व नेत्रदान कर दो अंधेरी जिंदगी को रोशनी कर गए।

नामचर्चा में शामिल हुए सत ब्रह्मचारी मुख्तियार सिंह इन्सां, नवजोत सिंह इन्सां, राजस्थान के 45 मैंबर रणजीत इन्सां, गुरदीप सिंह इन्सां, गोपाल इन्सां, योगेश इन्सां, हरचरण इन्सां, लंगर समिति के जिम्मेवार भाई हरनेक इन्सां, मेजर इन्सां, गुरदीप इन्सां, ब्लॉक के जिम्मेवार भाई व बहनें, पारिवारिक रिश्तेदार व भारी तादाद में पहुंची साध-संगत ने सुमिरन कर सचखंडवासी अमरसिंह इन्सां को सच्ची श्रद्धांजलि दी।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।