देश

पाखंडियों के उल्लू पर मंडराते संकट पर चंबल मे अलर्ट

Chambal

इटावा (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश में इटावा स्थित चंबल(Chambal) सेंचुरी मे पाये जाने वाले दुर्लभ उल्लुओं की जान पर दीपावली के करीब आते ही मुश्किले आना शुरू हो जाती है क्योकि पाखंडी व कथित तंत्र साधना से जुड़े लोग दीपावली पर इसकी बलि चढ़ाने की दिशा मे सक्रिय हो जाते है। इस संबंध में चंबल सेंचुरी के कर्मियो को सतर्क कर दिया गया है ताकि कोई भी शिकारी बलि चढ़ाने के लिहाज से उल्लुओं को पकड़ने मे कामयाब नहीं हो।

यह विडंबना ही है कि अधिक संपन्न होने के फेर मे कुछ लोग दुर्लभ प्रजाति के संरक्षित वन्यजीव उल्लुओं की बलि चढ़ाने की तैयारी मे जुट गए हैं। यह बलि सिर्फ दीपावली की रात को ही पूजा अर्चना के दौरान दी जाती है। इन लोगों का मानना है कि उल्लू की बलि देने वाले को बेहिसाब धन मिलता है।
चंबल सेंचुरी के इटावा स्थित वनक्षेत्राधिकारी सर्वेश सिंह भदौरिया ने बताया कि उनके संज्ञान मे विभागीय स्तर पर लाया है कि दीपावली पर्व के मद्देनजर चंबल इलाके से दुर्लभ प्रजाति के उल्लुओ की तस्करी की जाती है।

इसको लेकर विभागीय कर्मचारियों को सतर्क कर दिया गया है। गुप्तचरों के जरिए उन तस्करों पर निगरानी तो रखी ही जाएगी बल्कि उनको पकड़ने की भी कवायद भी तेज कर दी गई हैं।
उन्होंने बताया कि चंबल सेंचुरी के कर्मियो के अलावा मुखबिरो को भी सर्तक किया गया है जिनसे निजी तौर पर संपर्क करके रखा गया है। चंबल सेंचुरी मे 17 बीट है जिनमें 32 बीट प्रभारी है सभी को सर्तक कर दिया गया। उन्होंने बताया कि चंबल सेंचुरी मे पर्थरा गांव के पास महुआ सूडा नामक स्थान के अलावा गढायता गांव के पास चंबल नदी के किनारे देखे गये है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top