चंडीगढ़ में हवा की गुणवत्ता में नहीं हो रहा सुधार

0
Air quality is not improving in Chandigarh

पंचकूला की स्थिति बेहद खराब

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। हवा की गुणवत्ता में (Air quality is not improving) सुधार नहीं हो रहा है। हवा में पर्टिक्यूलेट मैटर (पीएम) मौजूद हैं। पीएम-10 और 2.5 मात्रा सबसे अधिक है। यह हवा में ही तैर रहे हैं, जिससे यह सांस के साथ शरीर में भी प्रवेश कर रहे हैं। जैसे-जैसे ठंड बढ़ रही है इनकी मात्रा भी बढ़ रही है। ठंड की वजह से एयर क्वालिटी इंडेक्स में लगातार इजाफा हो रहा है। यह कई दिनों से 150 के आस-पास बना हुआ है।

शुक्रवार सुबह चंडीगढ़ में एक्यूआइ 148 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया था। शाम तक यह और हो गया। हालांकि इस बार वाहनों के जाम पहले वर्षों की तरह नहीं लग रहे। पंजाब और हरियाणा का ट्रैफिक भी कम आ रहा है। कोरोना और किसान आंदोलन इसकी दो बड़ी वजह हैं। इसका फायदा शहर को यह मिल रहा है कि प्रदूषण का स्तर पहले वर्षों की तरह नहीं बढ़ रहा है। सबसे ज्यादा प्रदूषण की वजह वाहन और कंस्ट्रक्शन साइट ही हैं।

दीवाली के बाद पटाखों का धुआं जैसे ही हवा में मिलेगा एक्यूआई में एकदम इजाफा होगा। हर साल ऐसा होता रहा है। अगले दो दिनों में प्रदूषण का स्तर सीधे 100 प्वाइंट बढ़ सकता है। पंचकूला का एक्यूआई अभी चंडीगढ़ से दोगुणा है। शुक्रवार को यह 284 दर्ज किया गया। जो दीवाली पर पटाखों के धुएं से और बढ़ेगा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।