सरपंच के बाद अब ग्राम सचिव भी सस्पेंड

0
suspended

लोहारी राघो मनरेगा घोटाला: अगले एक सप्ताह में चुन लिया जाएगा कार्यवाहक सरपंच

  •  मनदीप को मिला ग्राम सचिव का कार्यभार

  • रिकवरी के बारे में नहीं कोई सपष्ट आदेश

सच कहूँ/सुनील कोहाड़ नारनौंद। लोहारी राघो मनरेगा घोटाले के मामले में सरपंच चंद्रकांता चांदना के निलंबन के बाद जिला प्रशासन ने अब सख्त कार्रवाई करते हुए ग्राम सचिव राजू को भी सस्पेंड कर दिया है। उनके स्थान पर अब मनदीप कुमार को लोहारी राघो के ग्राम सचिव का कार्यभार सौंपा गया है। 6.29 लाख से भी अधिक इस मनरेगा मजदूरी घोटाले में जांच युद्धस्तर पर जारी है। घोटाले में अभी मनरेगा मेटों व कई और अधिकारियों पर भी गाज गिर सकती है। फर्जी मजदूरों द्वारा डकारी गई मजदूरी की रिकवरी के बारे में अभी कोई सपष्ट निर्देश नहीं हैं।

  • नारनौंद बीडीपीओ ने बताया कि मजदूरी की रिकवरी किससे की जानी है,
  • अभी तक उनके पास कोई निर्देश नहीं हैं लेकिन रिकवरी हर हाल में की जाएगी व जो आरोपित होंगे,
  • उनके खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन लिया जाएगा।
  • बता दें कि आरटीआई के जरिए हुए खुलासे के बाद अनेक ऐसे तथ्य सामने आए हैं
  • जिसने इस लूट कांड के सभी आरोपितों की नींद उड़ा दी है।
  • 6 लाख 13 हजार 129 रूपए के इस घोटाले में कई ऐसे पूंजीपतियों के नाम सामने आए हैं
  • जो एक दिन भी मजदूरी पर नहीं गए जबकि घर बैठे उनकी उपस्थिति दर्ज की जाती रही।

ज्ञात रहे कि ग्रामीण संजय भयाना व कुलदीप सिंह ने 4 अगस्त 2017 को आरटीआई के माध्यम से गांव में मनरेगा स्कीम में काम करने वाले लोगों की सूची मांगी थी। सूचना में अनेक चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। खुलासा हुआ कि सरपंच ने मिलीभगत कर लाखों रुपये का गबन किया।

अब राजनीतिक दबाव बनाकर मामले को दबाने की तैयारी

बताया यह भी जा रहा है कि इस मनरेगा लूट कांड में संलिप्त मलाई खाने वाले आरोपित राजनीतिक दबाव बनाकर इस पूरे के पूरे प्रकरण पर पर्दा डालने की फिराक में हैं। इसके लिए लूट कांड के आरोपितों ने भाजपा सरकार के कुछ राजनेताओं से संपर्क साधना शुरू कर दिया है। लेकिन उपायुक्त अशोक कुमार मीणा ने लोहारी राघो सरपंच को निलंबित कर जिले के तमाम भ्रष्ट सरपंचों को सख्त संदेश दे दिया है

  •  सरकार भ्रष्टाचारियों को किसी भी कीमत पर बख्शने वाली नहीं है
  • चाहे वह कितना भी बड़ा रसूखदार व राजनीतिक पहुंच वाला क्यों न हो।
  • अब देखना यह है कि मनरेगा लूट कांड के आरोपितों की राजनेताओं के पीछे की यह दौड़ क्या गुल खिलाती है।
  • क्या वे इस पूरे लूटकांड पर पर्दा डालने में कामयाब हो पाएंगे

फिर सरकार ईमानदारी से जांच कर इन भ्रष्ट मेटों व इसमें संप्ति अन्य अधिकारियों को जेल की सलाखों तक पहुंचाकर अन्य घूसखोर सरपंचों को भी सख्त संदेश देगी?

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।