अभिनेत्री युविका चौधरी ने हांसी पुलिस के समक्ष किया आत्मसमर्पण,गिरफ्तार

0
584
Yuvika Chaudhary sachkahoon

सच कहूँ/संदीप सिंहमार। हिसार। अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों के खिलाफ टीका टिप्पणी करना सेलिब्रिटीज को भारी पड़ रहा है। क्रिकेटर युवराज सिंह की गिरफ्तारी के बाद अनुसूचित जाति समाज के खिलाफ अपने ब्लॉग में वीडियो जारी कर अपमानजनक टिप्पणी करने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री युविका चौधरी ने हांसी पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। हांसी पुलिस ने अभिनेत्री युविका चौधरी को गिरफ्तार कर जांच अधिकारी ने डीएसपी कार्यालय हांसी में पूछताछ शुरू कर दी है। ध्यान रहे कि फिल्म अभिनेत्री युविका चौधरी ने 25 मई को अपने ब्लॉग पर एक वीडियो जारी कर अनुसूचित जाति समाज के लिए अपमानजनक भाषा का प्रयोग किया था। जिस पर उनके खिलाफ हरियाणा के पुलिस जिला हांसी के अंतर्गत थाना शहर हांसी में दलित अधिकार कार्यकर्ता रजत कलसन द्वारा अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम के प्रावधानों के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

इस एफआईआर में गिरफ्तारी से बचने के लिए युविका चौधरी ने हिसार की अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार के तहत स्थापित विशेष अदालत खुद को अग्रिम जमानत का लाभ दिए जाने की याचिका दायर की थी। जिस पर लगातार दो दिन 7 व 8 अक्टूबर को हिसार की अजय तेवतिया अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत में पीडि़त व आरोपी पक्ष की बहस हुई ,जिसमें पीडि़त पक्ष ने तर्क दिया कि अभिनेत्री युविका चौधरी को विवादित शब्द का अर्थ मालूम नहीं था तथा उक्त वीडियो जारी होने के बाद ही कुछ देर बाद ही उसने एक अन्य वीडियो जारी कर माफी भी मांग ली थी। इस पर शिकायतकर्ता रजत कलसन ने अदालत को बताया की युविका चौधरी द्वारा जानबूझकर अपने ब्लॉग पर दलित समाज के अपमान करने की नियत से तथा लाइमलाइट में आने के लिए विवादित वीडियो जारी की गई तथा टीआरपी हासिल करने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि युविका चौधरी ने वीडियो को खुद द्वारा जारी किया जाना स्वीकार किया है तथा माफी मांग कर अपना अपराध भी कबूल किया है । उन्होंने कहा कि इस वीडियो से युविका चौधरी ने पूरे अनुसूचित जाति व जनजाति समाज के लोगों का अपमान किया है।

गौरतलब है कि युविका चौधरी ने शाहरुख खान अभिनीत मशहूर फिल्म ओम शांति ओम तथा बिग बॉस में काम कर प्रसिद्धि हासिल की थी। इसके अतिरिक्त उसने कई टीवी धारावाहिक में भी काम किया है। युविका चौधरी की वीडियो के बारे में हांसी के थाना शहर में एफआईआर दर्ज होने के बाद युविका चौधरी ने खुद के खिलाफ दर्ज मामले को खारिज कराने के लिए हाईकोर्ट का रुख भी किया था ,परंतु हाईकोर्ट ने उसे कोई भी अंतरिम राहत देने से इंकार कर दिया था। जिसके चलते अब युविका चौधरी ने हिसार की विशेष अदालत में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। यहाँ से भी राहत ना मिलती देख आखिर आत्मसमर्पण करना पड़ा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।