एक ऐसा वन जिसका आधे से ज्यादा हिस्सा बांग्लादेश में है

0
A forest with more than half of it in Bangladesh
बांग्लादेश आज भारत का पड़ोसी देश है लेकिन यह पहले भारत का ही एक हिस्सा था। जब सन 1947 को भारत देश को आजादी प्राप्त हुई तभी से बांग्लादेश का हिस्सा काट कर पाकिस्तान का हिस्सा बन गया और सन 1971 में भारतीय सेना की मदद से बांग्लादेश ने पाकिस्तान से पूर्ण रूप से आजादी प्राप्त की और एक नया देश बन गया। वैसे तो बांग्लादेश क्षेत्रफल के हिसाब से छोटा सा देश है फिर भी आबादी में मामले यह विश्व का 8वें नंबर का बड़ा देश है। बांग्लादेश की आबादी 16 करोड़ से भी ज्यादा है। ताजुब की बात तो यह है की बांग्लादेश में 2 हजार से भी ज्यादा पत्रिकाएं और समाचार पत्र प्रकाशित होते है जबकि यहा पाठकों की संख्या कुल आबादी का केवल 15 प्रतिसद ही है। बांग्लादेश के राष्ट्रिय भाषा ‘बंग्ला’ है और अंग्रेजी भी यहां पर काफी मात्रा में बोली जाती है। यहां अधिकतर लोग मुस्लिम ही है और 88.3 प्रतिसद लोग इस्लाम धर्म का पालन करते है वहीं करीब 10 प्रतिसद लोग हिन्दू है। पूर्वोतर बांग्लादेश का पहाड़ी इलाका मसिलहट कई तरह की कलाकृतिओ से भरा हुआ है जो बेहद ही खुबसूरत है।
बांग्लादेश का राष्ट्रिय खेल कबड्डी है पर क्रिकेट यहाँ पर सबसे ज्यादा खेली जाती है। रॉयल बंगाल टाइगर बांग्लादेश का राष्ट्रिय प्राणी है जो सुंदरवन में देखने को मिलता है पर अब यह प्रजाति विलुप्ति की और आगे बढ़ रही है। महस्थलगढ़ बांग्लादेश का सबसे पुराना शहर माना जाता है। बंगाल की खाड़ी पूरी दुनिया की सबसे बड़ी खाड़ी है जो भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, मालदीव और श्रीलंका तक फैली हुई है। दुनिया का सबसे बड़ा मैंग्रोव का जंगल बांग्लादेश में ही मौजूद है। इस देश की करीब 80 प्रतिसद आबादी खेती करती है हालाकि उनकी आय का मुख्य स्त्रोत कपड़ों की निर्याता है। बंगाल टाइगर का घर माने-जाने वाला सदाबहार सुंदरवन का करीब 40 प्रतिशत हिस्सा भारत में और 60 प्रतिशत हिस्सा बांग्लादेश में है। बांग्लादेश में करीब 700 नदिया मोजूद है। एशिया की प्रशिद्ध नदीया गँगा, मेघना और ब्रह्मपुत्र नदी बांग्लादेश से होकर ही बहेती है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।