Breaking News
   सिरसा में प्रशासन के आदेश के बाद पानीपत फ़िल्म का प्रसारण रोका गया |   J-K: श्रीनगर में धुंध की वजह से एयरपोर्ट पर 3 दिनों तक उड़ानें रद्द |   नागरिकता संशोधन बिल संविधान के खिलाफ है: मनीष तिवारी |   मुस्लिम देशों में भारतीयों का उत्पीड़न हो रहा है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह |   कर्नाटक उपचुनाव: भाजपा ने 15 में से 12 सीटों पर दर्ज की जीत |   नागरिकता बिल: पहली जोर आजमाइश में मोदी सरकार पास, लोकसभा में 293 Vs 82 रहा स्कोर|   फ़िल्म पानीपत पर हो रहे हंगामे पर बोले गृह मंत्री अनिल विज: अगर किसी एतिहासिक विषय पर फ़िल्मकार फ़िल्म बनाता है तो उसे पूरा रिसर्च करना चाहिए।   हरियाणा परिवहन विभाग के बेड़े में शामिल होगी नई बसें, सभी में लगेेंगे सीसीटीवी कैमरे: परिवहन मंत्री मुलचंद शर्मा |    हनीप्रीत इन्सां ने पूज्य गुरु जी से सुनारिया जेल में की मुलाकात |
Breaking News

कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाने पर तिलमिलाए दहशतगर्द

Kashmir Section 3500 and 35A
  • तबाही की साजिश रच रहे आतंकी गुट

  • खुफिया एजेंसियों ने किया आगाह

नई दिल्ली (एजेंसी)। इस्लामिक स्टेट और आईएसआई समर्थित आतंकवादी गुट भारत में तबाही मचाने के लिए घात लगाए बैठे हैं। इस बारे में भारतीय खुफिया एजेंसियों ने कुछ समय पहले ही इन तमाम अति-संवेदनशील खुफिया सूचनाओं से सरकार को अवगत करा दिया है, ताकि विध्वंसकारी ताकतों को वक्त रहते काबू किया जा सके।

इंटेलीजेंस ब्यूरो मुख्यालय द्वारा जारी गोपनीय रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया है कि पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा समर्थित जेहादी आतंकी गुट जम्मू एवं कश्मीर और उसके बाहर बड़ी आतंकवादी घटनाओं को अंजाम दे सकते हैं। इस सिलसिले में संबंधित राज्यों की अभिसूचना ईकाइयों और पुलिस मुख्यालयों को सचेत कर दिया गया है।

सूत्रों की माने तो इस बार इस्लामिक स्टेट और पाक समर्थित कट्टरपंथी आतंकी संगठन बकरीद जैसे बड़े पर्व पर भीड़ को निशाना बनाने की कोशिश कर सकते हैं। खुफिया एजेंसियां इस बात से भी इनकार नहीं कर रही हैं कि पाक खुफिया एजेंसी और इस्लामिक स्टेट समर्थित ये आतंकी गुट बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, हवाई अड्डों (ट्रांसपोर्ट नेटवर्क) सहित अन्य कुछ महत्वपूर्ण जगहों को भी निशाना बनाने की फिराक में हैं।

देश की खुफिया एजेंसियों के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक, भले ही आईएसआई लंबे समय से भारत में अशांति फैला पाने में कामयाब न हो पाई हो, लेकिन कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद वह भी बुरी तरह से बौखलाई हुई हैं। गौरतलब है कि तालिबान समर्थित कुछ स्लिपिंग मॉड्यूलों की भारत में मौजूदगी की खबरें भी इन दिनों आ रही हैं। कुछ वक्त पहले ही एनआईए ने केरल सहित कुछ अन्य राज्यों में छापेमारी की थी। श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के तार भी केरल से जुड़े थे।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top