हरियाणा

हरियाणा में 93 लाख बच्चों को खिलाई जाएगी पेट के कीड़े मारने की दवा

93 lakh Children Will Be Dumped Stomach Bug In Haryana

2022 तक देश को एनीमिया तथा कुपोषण मुक्त बनाना

पंचकूला (एजेंसी)। राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस पर हरियाणा के एक से 19 वर्ष की आयु के स्कूली बच्चों को पेट के कीड़े मारने की गोली खिलाने का शुक्रवार से राज्यव्यापी अभियान शुरू हुआ जिसके तहत लगभग 93 लाख बच्चों को कवर किया जाएगा। राज्य स्वास्थय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने यहां विभिन्न स्कूलों के करीब 100 बच्चों को ‘एल्बेंडाजोल’ की गोली खिलाकर यह अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि कृमि संक्रमण मुक्ति अभियान के निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिये 14 फरवरी को मॉप-अप राऊंड होगा, जिसमें शेष बचे बच्चों को उक्त गोली खिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि इस अभियान को पूरा करने के लिए राज्यभर में आंगनबाड़ी केंद्रों, स्कूलों, गांवों, कस्बों तथा शहरों में यह सुविधा प्रदान की गई है। इसमें स्वास्थ्य विभाग की आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर तथा स्कूलों के अध्यापकों का सहयोग लिया जाएगा।

शिशु मृत्यु दर, मातृ मृत्यु दर में आई कमी

अरोड़ा ने कहा कि कृमि संक्रमण मुक्ति में विभिन्न संस्थाएं अपनी अहम भूमिका निभा सकती हैं। उन्होंने अभिभावकों से भी अपने बच्चों को यह गोली अवश्य खिलाने की अपील की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की सजगता और मेहनत से राज्य में शिशु मृत्यु दर, मातृ मृत्यु दर में कमी आई है तथा अन्य मापदंडों में अभूतपूर्व सुधार हुआ है। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक अमनीत पी. कुमार ने कहा कि कृमि संक्रमण से बच्चों और युवाओं के स्वास्थ्य पर विपरित प्रभाव पड़ता है, जिससे पेट दर्द, बुखार तथा एनिमिया तक की समस्या हो जाती है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए यह दवाई महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि नीति आयोग द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार वर्ष 2022 तक देश को अनीमिया तथा कुपोषण मुक्त बनाना है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top