25 बसों में 827 प्रवासी श्रमिकों को भेजा बुलंदशहर

0
migrants

एसडीएम की देखरेख में हुई स्वास्थ्य जांच (Migrant Laborers)

  • नोडल अधिकारी बोली- प्रवासी श्रमिक को भेजने की है पूर्ण व्यवस्था

झज्जर (संजय भाटिया/सच कहूँ)। कोविड-19 वैश्विक महामारी के तहत चल रहे लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने के लिए झज्जर जिला प्रशासन द्वारा पूरी सजगता बरती जा रही है। सोमवार को 25 बसों से 827 प्रवासी श्रमिकों को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर कलस्टर के लिए रवाना किया गया। ऐसे में अब तक लॉकडाउन के दौरान झज्जर जिला से करीब 8000 प्रवासी श्रमिकों को बस व ट्रेन के माध्यम से नि:शुल्क भेजा जा चुका है। उपायुक्त जितेंद्र कुमार ने कहा कि किसी भी रूप से झज्जर जिले में मोजूद प्रवासी श्रमिकों को भेजने में दिक्कत न आए, इसके लिए पूरी मॉनिटरिंग प्रशासनिक स्तर पर की जा रही है।

उन्होंने कहा कि झज्जर जिला प्रशासन की ओर से नियुक्त नोडल अधिकारी एवं सीटीएम डॉ. सुभिता ढाका संबंधित राज्यों के नोडल अधिकारियों से तालमेल स्थापित करते हुए प्रवासी श्रमिकों को भेजने की व्यवस्था सुनिश्चित कर रही हैं। नोडल अधिकारी एवं सीटीएम डॉ. सुभिता ढाका ने बताया कि झज्जर जिला से सोमवार को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर कलस्टर के लिए हरियाणा राज्य परिवहन की झज्जर डिपो की कुल 25 बसें भेजी गई, जिनमें 827 प्रवासी श्रमिकों को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि बहादुरगढ़ उपमंडल मुख्यालय से एसडीएम तरूण कुमार पावरिया की देखरेख में सोमवार को 16 बसें 551 प्रवासी श्रमिकों को लेकर रवाना हुई, जबकि झज्जर में एसडीएम शिखा की देखरेख में 5 रोडवेज बसें 150 प्रवासी श्रमिकों तथा बेरी उपमंडल से एसडीएम डॉ. राहुल नरवाल की देखरेख में 4 बसें 126 प्रवासी श्रमिकों को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर कलस्टर के लिए रवाना हुई।

प्रवासी श्रमिक जल्दबाजी न करें : सीटीएम

प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने के लिए नियुक्त प्रशासन की नोडल अधिकारी एवं सीटीएम डॉ. सुभिता ढाका ने अपील की है कि झज्जर जिला के प्रवासी श्रमिकों को व्यवस्थित ढंग से सुरक्षित उनके गृह जिलों में भेजा जाएगा।

910 प्रवासी नागरिकों को लेकर 20 बसें यूपी तथा 9 बसें मध्य प्रदेश भेजी

गुरुग्राम (सच कहूँ न्यूज)। लॉकडाउन में हरियाणा सरकार के दिशा-निर्देशानुसार प्रवासी नागरिकों को उनके गृह जिलों में भेजने की व्यापक व्यवस्था जिला प्रशासन की ओर से की जा रही है। सोमवार को गुरूग्राम जिला के अलग-अलग स्थानों से उत्तर प्रदेश व मध्यप्रदेश के लिए हरियाणा राज्य परिवहन की बसें रवाना हुई। उत्तर प्रदेश के लिए 595 तथा मध्यप्रदेश के लिए 315 प्रवासी नागरिक जिला से रवाना हुए। एसडीएम चिनार चहल की देखरेख में सभी प्रवासी नागरिकों को बसों में बैठाकर उनके गंतव्य की ओर भेजा।

बसों में सवार करने से पूर्व सभी प्रवासी श्रमिको की थर्मल स्कैनिंग की गई और उन्हें फिटनेस सर्टिफिकेट दिया गया।

सभी प्रवासी नागरिकों को मास्क, बिस्किट व पानी की बोतलें देते हुए उन्हें क्रमवार राज्य परिवहन की बसों में बिठाकर उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर तथा मध्यप्रदेश के ग्वालियर के लिए भेजा गया। उन्होंने बताया कि सोमवार को सरहौल स्थित सामुदायिक केन्द्र से 207 प्रवासी नागरिक, सिद्धरावली शैल्टर होम से 118, बस स्टैंड से 90 तथा सैक्टर-21 से 180 प्रवासी नागरिकों की बसों में रवाना किया गया। इसी प्रकार मध्य प्रदेश के ग्वालियर के लिए राजकीय कन्या महाविद्यालय सैक्टर-14 से मध्य प्रदेश के लिए 9 बसों में 315 प्रवासी नागरिकों को रवाना किया गया। सोमवार को सुश्री चहल ने सभी प्रवासी नागरिकों को अपने घर सकुशल पहुंचने का संदेश दिया।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।