Breaking News

ग्रेनो में गिरी दो इमारतें, 3 की मौत, बचाव कार्य में जुटे ग्रीन एस के सेवादार

Died, Greater Noida, Building Collapse, Welfare Works, Dera Sacha Sauda

मजदूर परिवारों के कई लोग मलबे में दबे | Building Collapse

नोएडा (सच कहूँ न्यूज)। राष्ट्रीय  राजधानी क्षेत्र से लगे ग्रेटर नोएडा (ग्रेनो) के शाहबेरी गाँव में मंगलवार (Building Collapse) देर रात दो इमारतों के ढहने से 3 लोगों की मौत हुई है। दोनों इमारतें छह मंजिला और चार मंजिला थी। इमारतों के मलबे में कई लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। घटना की सूचना मिलते ही राराष्ट्रीय आपदा प्रबंधन की टीम, फायर ब्रिगेड के साथ-साथ डेरा सच्चा सौदा की शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के 50 से अधिक सेवादार राहत एवं बचाव कार्य के लिए घटनास्थल पर पहुंचे और मलबा हटाने के कार्य में जुट गए, जो देर रात तक चला।

बुधवार सुबह एक बार फिर एनडीआरएफ और शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग के साथ-साथ अग्निशमन विभाग के कर्मियों ने स्टील कटर्स और हैवी मशीन की मदद से इमारतों में फंसे लोगों की तलाश शुरू की। सेवादारों ने दिनभर प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मलबे को हटाया। यह जानकारी 45 मैंबर टेकराम इन्सां ने दी।

उन्होंने बताया कि संसाधनों की कमी के चलते राहत बचाव में थोड़ी मुश्किलें जरूर आई, लेकिन पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की रहमत से सेवादारों के जज्बे में तिल भर कमी नहीं आई और इमारत में फंसे लोगों की जान बचाने के लिए जी-जान से सेवा में जुटे हुए हैं। बता दें कि शाहबेरी में निमार्णाधीन इमारत बगल की पुरानी इमारत पर गिर गई थी। जिस वक्त हादसा हुआ, उस समय पुरानी इमारत में कुछ परिवार रह रहे थे।

मुख्य बिल्डर सहित तीन लोग गिरफ्तार | Building Collapse

Died, Greater Noida, Building Collapse, Welfare Works, Dera Sacha Sauda

  • जबकि नई इमारत में मजदूरों के परिवार सो रहे थे।
  • ये सभी लोग धराशायी इमारतों के मलबे में दब गए।
  • निमार्णाधीन बिल्डिंग में 15 मजदूरों के परिवार दबे हो सकते हैं,
  • जबकि दूसरी बिल्डिंग में 6 परिवार शिफ्ट हुए थे।
  • एक परिवार रात में खाना खाने के बाद बाहर टहल रहा था, जो बच गया।
  • वहीं, मुख्य बिल्डर समेत तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार बिल्डर गंगा शरण द्विवेदी जमीन का मालिक है। एनडीआरएफ के कमांडेंट पी.के. श्रीवस्ताव ने बताया कि एनडीआरएफ की चार टीमें और डॉग स्क्वायड मौके पर मौजूद है। इधर, केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचाना ही हमारी प्राथमिकता है। रीजनल चीफ फायर आॅफिसर अरूण कुमार सिंह ने मरने वालों की संख्या में इजाफे की आशंका जताई है।

क्या है ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग | Building Collapse

गौरतलब है कि पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने प्राकृतिक या मानवीय आपदा के वक्त मुश्किल में फंसे लोगों की मदद के लिए शाह सतनाम जी ग्रीन एस वेल्फेयर फोर्स विंग की स्थापना की थी। विंग से जुड़े सेवादार जरूरतमंदों की मदद के लिए हरदम तैयार रहते हैं, बस सूचना मिलने भर की देर होती है, ये तुरंत घटनास्थल पर पहुंचते हैं और नि:स्वार्थ भाव से अपनी सेवाएं देते हैं।

जान पर खेल बचाते हैं दूसरों की जान | Building Collapse

चाहे बात अंडेमान निकोबार में आई सूनामी की करें, दिल्ली के लक्ष्मी नगर में इमारत गिरने, जालंधर में इमारत ढहने से मलबे में फंसे लोगों को निकालने की या फिर घग्गर नदी में आई बाढ़ के दौरान उफनती लहरों के बीच बांध लगाने की, इन सेवादारों ने हर मुश्किल घड़ी में अपनी जान पर खेलकर आमजन की मदद की।

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top