हरियाणा

फसल बीमा के तहत 2404 करोड़ रुपए दिया मुआवजा

Agricultural Crisis, Change, Grain, Farmer, Government

कृषि मंत्री बोले, किसानों के लिए जोखिम फ्री बना हरियाणा

झज्जर(सच कहूँ न्यूज)। किसानों के लिए हरियाणा जोखिम फ्री राज्य बन गया है। देश के किसी भी राज्य में ऐसा प्रावधान नहीं है। राज्य का प्रत्येक किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना या फिर फसल खराब होने पर राज्य की फसल राहत मुआवजा योजना का हिस्सा है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ शनिवार को यहां नेहरू कॉलेज में आयोजित प्रधानमंत्री फसल बीमा जागरूकता कार्यक्रम में किसानों को संबोंधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने एक हजार दिन के कार्यकाल में किसानों को लगभग 2404 करोड़ रुपए का रिकार्ड मुआवजा देने का काम किया है।

कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार का उदेश्य किसानों में सुरक्षित भाव पैदा करना है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसान को केवल दो प्रतिशत प्रिमियम देना है बाकि केंद्र व राज्य सरकार वहन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष किसानों को प्रति एकड़ 25 हजार तक मुआवजा मिला, इस वर्ष 29 हजार तक पंहुच गया है उनका प्रयास है मुआवजा राशि 50 हजार प्रति एकड़ तक पंहुचे ताकि किसान फसलों को लेकर चिंता मुक्त रहे। उन्होंने बताया कि पिछले प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत राज्य के एक लाख 80 हजार किसानों को 229 करोड़ रुपए मुआवजा वितरित किया है। अगर सभी किसान मुआवजा करवाते तो यह आंकड़ा तीन गुणा और बढ़ जाता। वहीं फसल राहत मुआवजा योजना के तहत 12 हजार रुपए प्रति एकड़ मुआवजा देने की नीति सरकार ने लागू की है।

दिल्ली के बाजार पर कब्जा करें हरियाणा के किसान

कृषि मंत्री ने किसानों का आह्वान करते हुए कहा कि देश की राजधानी का खान-पान बाजार लगभग तीस हजार करोड़ रुपए सालाना है। हम दिल्ली के नजदीक है। किसान भाई फल, फूल, सब्जी और दूध उत्पादन बढ़ाकर दिल्ली के बाजार पर कब्जा करने का विजन बनाएं। हरियाणा सरकार का कृषि, बागवानी, पशुपालन मंत्रालय आपके साथ है। उन्होंने कहा कि 50 गाय व 50 भैंस की डेयरी खोलने पर सरकार ने सात साल ब्याज मुक्त लोन देने की नीति बनाई है। हमारा सांझा प्रयास होना चाहिए कि राज्य को दूध उत्पादन में देश का अग्रणी स्टेट बनाएं।

अगले 500 दिन में और अच्छा करने का प्रयास करेंगे

कृषि मंत्री धनखड़ ने कहा कि हमारी सरकार ने एक हजार दिन के कार्यकाल अपना बेस्ट देने का प्रयास किया है। अगले 500 दिनों में और अच्छा करने का प्रयास करेंगे। कृषि मंत्री ने अधिकारियों को आदेश देते हुए कहा कि एक-एक किसान की बात ध्यान से सुनीं जाए और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का कैसे लाभ लें, यह बात किसानों को विस्तार से बताने के निर्देश दिए।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

Lok Sabha Election 2019