गुरुग्राम से ट्रेन में 1424 प्रवासी लोगों को दरभंगा भेजा

0
Gurugram to Darbhanga

लॉकडाउन : दूर रास्तों में फंसे लोगों को घर पहुंचाने की कवायद तेज

(Gurugram to Darbhanga)

गुरुग्राम (सच कहूँ/संजय मेहरा)। कोरोना महामारी के इस दौर में लॉकडाउन की स्थिति में हरियाणा सरकार द्वारा प्रवासी नागरिकों को उनके घर नि:शुल्क पहुंचाने में गुरुग्राम जिला से 6 स्पेशल ट्रेन अलग-अलग राज्यों के लिए चलाई जा चुकी हैं। जिनमें 8500 से ज्यादा प्रवासी नागरिकों को उनके घर भिजवाया जा चुका है। शनिवार को भी यहां रेलवे स्टेशन से एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई गई, जिसमें 1424 यात्रियों को बिहार के दरभंगा के लिए रवाना किया गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष तौर पर ध्यान रखा गया। जिले के रेलवे स्टेशन से बिहार के दरभंगा के लिए स्पेशल श्रमिक ट्रेन रवाना की गई। रेलवे स्टेशन पर प्रवासी नागरिकों को उनके गृह जिला में रवाना करने के लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई थी।

थर्मल स्कैनिंग और सोशल डिस्टेसिंग का रखा गया पूरा ख्याल

पुलिसकर्मियों से लेकर, सिविल डिफेंस सहित अन्य अधिकारियों की निगरानी में यह ट्रेन रवाना की गई। बिहार के दरभंगा के लिए यह ट्रेन सुबह 11 बजे रवाना हुई। रेलवे स्टेशन पर श्रमिकों के प्रवेश से पूर्व उनकी थर्मल स्कैनिंग से स्वास्थ्य की जांच की गई और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ यह सुनिश्चित किया गया कि सभी श्रमिकों ने फेस मास्क पहने हों। प्रवासी श्रमिक अपने परिजनों से मिलने को लेकर उत्साहित थे, वहीं उनके चेहरों पर मौन संतुष्टि का भाव दिखाई दे रहा था। जाते हुए वे हरियाणा की संस्कृति और हरियाणा सरकार की ओर से की गई मदद के विचार अपने साथ जरूर लेकर गए हैं।

जिला उपायुक्त अमित खत्री के मार्गदर्शन में बिहार के दरभंगा जाने वाले प्रवासी नागरिकों के सुखद भविष्य की कामना करते हुए उन्हें सुरक्षा कवच के रूप में मास्क, पानी की बोतल व बिस्कुट के पैकट देते हुए रवाना किया गया। उन्हें ट्रेन की टिकट नि:शुल्क उपलब्ध करवाई गई थी। श्रमिकों ने हरियाणा सरकार और गुरुग्राम प्रशासन का तालियां बजाते हुए आभार व्यक्त किया। आज रेलवे स्टेशन पर अक्षर फाउंडेशन द्वारा भी प्रवासी श्रमिकों के लिए एक हजार फूड पैकेट तैयार करवाए गए थे, जिसमें यात्रियों के लिये दही, रोटी, सब्जी व पानी की बोतलें थी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।