Breaking News

 पाकिस्तानी भारत में बैठे अपने लोगों से पूछ रहे हैं, क्या हम तुम्हें चूड़ियां भेज दें?: डोभाल

Pakistanis are asking their people sitting in India, should we send you bangles?

ज्यादातर कश्मीरी 370 हटाए जाने के पक्ष में, राज्य के 92.5% क्षेत्र में अब कोई प्रतिबंध नहीं

  • कश्मीरियों की जान बचाने के लिए प्रतिबद्ध, सेना यहां आतंकियों से लड़ने के लिए मौजूद: एनएसए

नई दिल्ली (श्रीनगर)| राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने कहा कि पाकिस्तानी भारत में अस्थिरता लाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी बॉर्डर के 20 किलोमीटर का दायरे में लगे अपने टॉवरों से भारत में संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं और हमने उनके कुछ मैसेज सुने भी हैं। वे भारत में बैठे अपने लोगों से पूछ रहे हैं कि कश्मीर में सेब के ट्रकों का मूवमेंट हो रहा है, क्या हम तुम्हें चूड़ियां भेज दें?

  • बॉर्डर के करीब 230 आतंकवादी देखे गए

 जब हमने उनके मैसेज सुनने की कोशिश की तो वे यहां बैठे अपने लोगों से पूछ रहे थे कि भारत में सेब के ट्रकों का मूवमेंट कैसे हो रहा है? क्या तुम लोग उसे रोक नहीं सकते हो?राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा- पाकिस्तानी मुश्किल खड़ी करने की कोशिश कर रहे हैं। 230 पाकिस्तानी आतंकवादी देखे गए हैं। इनमें से कुछ ने घुसपैठ भी की है और कुछ को गिरफ्तार किया गया है।

पाकिस्तानी आतंकवादियों से कश्मीरियों की रक्षा करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। पाकिस्तान के पास अस्थिरता लाने के लिए केवल एक ही हथियार है, आतंकवाद। हम कश्मीरियों की रक्षा करेंगे, भले ही हमें कुछ प्रतिबंध ही क्यों न लगाने पड़ें।’’

मुझे पूरा यकीन है कि ज्यादातर कश्मीरियों ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने का समर्थन किया है। वे बड़ी संभावनाओं को देख रहे हैं। वे अपना भविष्य, आर्थिक प्रगति और रोजगार के मौकों को देख रहे हैं। कुछ उपद्रवी ही इसका विरोध कर रहे हैं।

आर्मी के अत्याचार का तो सवाल ही नहीं उठता है। यहां पर केवल जम्मू-कश्मीर पुलिस और कुछ केंद्रीय बल ही पब्लिक ऑर्डर को संभाल रहे हैं। भारतीय सेना यहां पर आतंकवादियों से लड़ने के लिए है।’

 जम्मू-कश्मीर के 199 पुलिस स्टेशनों में से केवल 10 पुलिस स्टेशनों में प्रतिबंधात्मक निर्देश लागू हैं बाकी जगहों पर किसी तरह के प्रतिबंध नहीं हैं। 100% लैंडलाइन कनेक्शन चालू हो गए हैं। 92.5% क्षेत्र में कोई प्रतिबंध लागू नहीं है।

कश्मीर पर पाक झूठे प्रचार में जुटा

श्रीनगर से रोजाना 750 ट्रक निकल रहे हैं। शुक्रवार को दो आतंकवादियों ने एक फल व्यापारी हमीदुल्लाह राथेर को निशाना बनाने की कोशिश की, वह नमाज पढ़ने गया था इसलिए आतंकी उसे ढूंढ नहीं पाए। वे व्यापारी के दो नौकरों को लेकर उसके घर गए, वहां पर व्यापारी के बेटे मो. इरशाद और उसकी ढाई साल की बेटी आस्मा जहां को गोली मार दी। दोनों आतंकी अब फरार हैं। एक अन्य घटना में एक दुकानदार अपनी दुकान खोलने की कोशिश कर रहा था। उसे भी आतंकी ने गोली मार दी।’

पाकिस्तान यहां पर हालात बिगाड़ना चाहता है और फिर अंतराराष्ट्रीय समुदाय में कहना चाहता है कि यहां पर अस्थिरता है। पाक झूठे और घृणित प्रचार में जुटा है और कुछ लोग एक या दो घटनाओं को लोगों की राय में तब्दील करने की कोशिश कर रहे हैं।’

  • हम चाहते हैं कश्मीर से सारे प्रतिबंध हट जाएं

 हम चाहते हैं कि कश्मीर से सारे प्रतिबंध हट जाएं। यह निर्भरत करता है कि पाकिस्तान किस तरह का व्यवहार करता है। यह भड़काए जाने पर जवाब देने वाली स्थिति है। अगर पाकिस्तान संयमित व्यवहार करता है और आतंकवादी घुसपैठ नहीं करते हैं, भय नहीं फैलाते हैं। पाकिस्तान अपने टॉवरों से भारत में बैठे अपने लोगों को सिग्नल भेजना बंद कर देता है तो हम सभी प्रतिबंध हटा सकते हैं।

मुझे लगता है कि जम्मू-कश्मीर में हालात हमारी उम्मीदों से ज्यादा बेहतर हो रहे हैं। केवल एक घटना 6 अगस्त को सामने आई थी, जहां एक बच्चे की जान गई, लेकिन उसकी जान गोली से नहीं गई थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया था कि उसे किसी ठोस चीज से चोट लगी थी। इतने सारे दिनों में केवल एक घटना सामने आई। हम ऐसे इलाकों की बात कर रहे हैं, जहां आतंकवादी ठिकाने हैं और केवल एक घटना!

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top