अन्य खबरें

यूपी में योगी का ऐलान: सरकारी योजनाओं से हटेगा ‘समाजवादी’ शब्द

samajwadi-word

24 घंटें बिजली देने का फैसला

लखनऊ। samajwadi-word योगी सरकार ने देर रात अफसरों के साथ बैठक कर बड़े फैसले लिए हैं। रात 1 बजे तक मुख्यमंत्री ने मंत्रियों और अफसरों के साथ बड़ी बैठक की और कई बड़े फैसले लिए। उनके बड़े फैसलों में जेवर एयरपोर्ट को मंजूरी और 24 घंटे बिजली देने का फैसला है।

samajwadi-word अब जुड़ेगा योगी का नाम

इसके अलावा राज्य की तमाम योजनाओं में अब मुख्यमंत्री का नाम जोड़ दिया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस दिशा में तेजी से काम कराया जाए। यही नहीं पूर्व वर्ती अखिलेश सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे परियोजना से समाजवादी शब्द हटा दिया जाएगा लेकिन इस परियोजना को तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। लखनऊ आगरा एक्सप्रेस वे काम भी तेजी से पूरा कराया जाएगा।

जेवर एयरपोर्ट को मंजूरी

जेवर एयरपोर्ट गौतमबुद्धनगर से सांसद व केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का यह ड्रीम प्रोजेक्ट रहा है। हाल ही में महेश शर्मा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लखनऊ आकर मुलाकात की थी और इस कहा कि प्रोजेक्ट को बढ़ाया जाएगा। ग्रेटर नोएडा आॅथोरिटी को इसके लिए जमीन देना है। जमीन न मिलने की वजह से यह परियोजना लटकी थी। दिल्ली एयरपोर्ट से जेवर स्थान की दूरी 88 किलोमीटर है। दिल्ली एयरपोर्ट की सहमति भी इसके लिए जरूरी होगी। ऐसा इसलिए जरूरी है क्योंकि यदि जेवर में एयरपोर्ट बन गया तो दिल्ली का काफी कुछ यातायात वहां शिफ्ट हो जाएगा।

samajwadi-word सीएम योगी ने दिए ये निर्देश

– पिछड़े क्षेत्रों में मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर एवं हब की स्थापना के प्रयास किए जाएं

– आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के शेष कार्यों को आगामी मई माह तक पूरा किए जाएं।

– आगरा के साथ-साथ गौतमबुद्धनगर के जेवर क्षेत्र में भी हवाई अड्डे की स्थापना के सम्बन्ध में विचार कर निर्णय लिया जाए।

-नोएडा व ग्रेटर नोएडा की प्रमुख परियोजनाओं पर विलम्ब के कारणों की पड़ताल करते हुए उन्हें दूर किया जाए।

इन योजनाओं के बदलेंगे नाम

अखिलेश यादव सरकार के समय कई सरकारी योजनाओं का नाम समाजवादी शब्द से शुरू हुआ था। इसमें समाजवादी आवास योजना, समाजवादी पेंशन योजना, समाजवादी एंबुलेंस, समाजवादी युवा स्वरोजगार और समाजवादी स्मार्टफोन जैसी योजनाएं हैं।

samajwadi-word पहले मायावती ने बदला था नाम

2007 में सत्ता में आने के बाद मायावती ने पूर्व की समाजवादी पार्टी सरकार की योजनाओं के नामों को बदल दिया था। इसके बाद 2012 में सत्ता में वापसी करने के बाद समाजवादी पार्टी ने भी बीएसपी सरकार की कई योजनाओं के नाम बदलकर नए नाम रख दिए थे। अब बीजेपी सरकार भी योजनाओं के नाम बदल रही है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top