[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
Breaking News

प्रो-बॉक्सिंग: विजेंदर ने चीन के बॉक्सर को हराया

बॉर्डर पर शांति के लिए चीनी मुक्केबाज को वापस दी जीत की बेल्ट

मुंबई: भारतीय बॉक्सर विजेंदर सिंह Vijender Singh ने प्रो-बॉक्सिंग के बड़े मुकाबले में चीन के बॉक्सर जुल्पिकार मैमाताली को हरा दिया। शनिवार रात मुंबई में हुए इस मुकाबले को जीतकर विजेन्दर ने दो टाइटल अपने नाम किए। उन्होंने WBO एशिया पेसिफिक सुपर मिडलवेट का अपना टाइटल तो बरकरार रखा, साथ ही चीनी बॉक्सर से WBO ओरिएंटल सुपर मिडलवेट का टाइटल भी छीन लिया। प्रोफेशनल बॉक्सिंग में आने के बाद विजेंदर की ये लगातार नौवीं जीत है।

 

मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं | Vijender Singh

ओलंपिक में कांस्य पद जीतने वाले विजेंदर ने मुकाबले के बाद कहा कि मैं यह बेल्ट जुल्फिकार को वापस देना चाहता हूं। मैं सीमा पर शांति की उम्मीद करता हूं और शांति का संदेश सबसे महत्वपूर्ण है। भारत एवं चीन के बीच पिछले कुछ सप्ताह से सिक्किम सेक्टर में सीमा पर गतिरोध की स्थिति है।

विजेंदर ने मुकाबले से पहले कहा था, चीनी उत्पाद अधिक देर नहीं चलते लेकिन मुकाबला समाप्त होने के बाद अपने प्रतिद्वंद्वी से प्रभावित भारतीय मुक्केबाज ने कहा, मुझो ऐसा लगता था कि चीनी मुक्केबाज बहुत देर तक नहीं टिक पाएंगे लेकिन जिस तरह वह खेले, उन्होंने मुझे हैरान कर दिया।

देर तक नहीं टिकता चाइनीज माल | Vijender Singh

फाइट से पहले विजेंदर ने पूरे कॉन्फिडेंस के साथ कहा था कि वे अपना नौवां मुकाबला जीतने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। विजेंदर ने कहा था कि चाइनीज माल ज्यादा देर नहीं चलता और वे मैमाताली को निपटाने में ज्यादा समय नहीं लगाएंगे।

इस मैच से पहले विजेंदर ने प्रो-बॉक्सिंग में अपने आठ मुकाबलों में से सात नॉकआउट से जीते थे।  विजेंदर के मुकाबले जुल्पिकार नौ साल छोटे हैं।

उन्होंने कहा ‘इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वे मुझसे उम्र में 9 साल कम हैं। जब आप रिंग में उतरते हैं तो मुकाबले में आपका अनुभव काम आता है। वो कितना युवा है इसका मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैं उसे पीटने के लिये तैयार हूं।’

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top