Breaking News

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का निधन

Union Environment Minister, Anil Madhav Dave, Passes Away, National Flag

 दिवंगत दवे के सम्मान में आधा झुका रहा राष्ट्रीय ध्वज

 बांद्राभान में आज होगा अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। लंबे समय तक संघ के सदस्य रहे केन्द्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का वीरवार सुबह यहां दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 60 वर्ष के थे और अविवाहित थे। श्री दवे को सुबह अचानक तबीयत बिगड़ जाने पर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ले जाया गया जहां दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। दवे अंतिम संस्कार उनकी इच्छा के अनुसार कल सुबह होशंगाबाद जिले के बांद्रा भान स्थित नर्मदा नदी के तट पर शिवनेरी आश्रम में किया जाएगा। दवे के सम्मान में वीरवार को दिल्ली के अलावा देश के अन्य राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों की राजधानियों में राष्ट्रध्वज आधा झुका दिया गया तथा मध्यप्रदेश में दो दिन का राजकीय घोषित किया गया है।

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी,राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद समेत कई गणमान्य लोगों ने दवे के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया और उनके निधन को पर्यावरण के क्षेत्र में गहरा नुकसान बताया। दवे को पिछले वर्ष पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन विभाग का स्वतंत्र प्रभार मिला था।

दवे का निधन निजी क्षति: मोदी

मोदी ने ट्वीट में कहा कि अपने मित्र एवं सम्मानित सहकर्मी पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे जी के आकस्मिक निधन से सदमे में हूं। मैं संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। उनका निधन एक निजी क्षति है। मोदी ने ट्वीट के जरिए बताया कि कल देर शाम तक वह दवे के साथ नीतिगत मुद्दों पर चर्चा कर रहे थे। प्रधानमंत्री ने कहा कि दवे को एक समर्पित लोकसेवक के तौर पर याद किया जाएगा, जो पर्यावरण संरक्षण के प्रति बेहद जुनूनी थे। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, कि दवे पर्यावरण से जुड़े मुद्दों को लेकर काफी सक्रिय और संवदेनशील थे।

दवे के सम्मान में झुका राष्ट्रीय ध्वज

केंद्रीय मंत्री अनिल माधव दवे के सम्मान में दिल्ली और सभी राज्यों की राजधानियों में सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके रहे। केंद्र ने फैसला किया है कि दिवंगत नेता के सम्मान में वीरवार को दिल्ली और सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों की राजधानियों में सभी सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। अंतिम संस्कार के दिन, जहां अंतिम संस्कार होगा, वहां राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।

हर्षवर्धन को सौंपा पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार

अनिल माधव दवे के अचानक निधन के बाद विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्ष वर्धन को पर्यावरण मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया। राष्ट्रपति भवन की और से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के परामर्श पर केंद्रीय मंत्री हर्ष वर्धन को उनके मौजूदा पद के अतिरिक्त पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय का कार्यभार सौंपा है। हर्ष वर्धन पृथ्वी विज्ञान मंत्री भी हैं।

दवे कहते थे,

‘मेरा स्मारक बनाने के बजाय पेड़ लगाए जाएं’

अपनी सहजता और सादगी के लिए मशहूर रहे केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे की इच्छा थी कि उनकी याद में स्मारक बनाने के बजाय पौधे लगाकर इन्हें बड़ा किया जाए और नदी-तालाबों को बचाया जाए। दवे के भतीजे निखिल दवे ने बताया कि अनिल माधव दवे हमसे कहते थे कि उनकी मृत्यु के बाद उनका कोई स्मारक न बनाया जाए। अगर कोई व्यक्ति उनकी स्मृति को चिरस्थाई रखना चाहता है, तो वह पौधे लगाकर इन्हें सींचते हुए पेड़ में तब्दील करेें।

उन्होंने बताया कि दवे की अंतिम इच्छा के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में नर्मदा और तवा नदी के संगमस्थल बांद्राभान में किया जाएगा। इस बीच, सोशल मीडिया पर एक दस्तावेज की प्रति वायरल हो रही है जिसे दवे की कथित आखिरी इच्छा और वसीयत से जुड़ा बताया जा रहा है। इस दस्तावेज पर 23 जुलाई 2012 का दिनांक अंकित है। इस दस्तावेज पर उनका अंतिम संस्कार बांद्राभान में वैदिक रीति से किए जाने, उनकी अंत्येष्टि में किसी तरह का आडम्बर न किए जाने, उनका स्मारक न बनाए जाने, उनकी याद में कोई प्रतियोगिता और पुरस्कार न शुरू किए जाने सरीखी बातों का जिक्र है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top