हरियाणा

पांच सेकेंड में बारी-बारी आए दो हमलावरों ने मारी गोली

Murder, Businessman, Wife, Son, Crime, Thief, Robbery, UP

सीसीटीवी में कैद हुआ बारबर लाइव मर्डर

  • हेलमेट व चेहरे पर कपड़ा बांधकर आए थे हमलावर
  • ग्रामीणों ने रातभर नहीं उठाने दिया था हेयर सैलून संचालक का शव
  • एसडीएम ने अस्पताल में पहुंचकर दिया आश्वासन, फिर कराया पोस्टमार्टम

सोनीपत (सच कहूं न्यूज)। गांव सेरसा में रविवार रात हुई हेयर सैलून संचालक विरेंद्र की हत्या सैलून के अंदर व बाहर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई है। बाइक पर सवार होकर आए तीन हमलावरों में दो ने बारी-बारी महज पांच सेकेंड के अंदर विरेंद्र के सीने व पीठ में दो गोली मारकर उनकी हत्या कर दी और पहले से बाइक स्ट्रार्ट कर खड़े अपने तीसरे साथी के साथ फरार हो गए।

विरेंद्र करीब एक वर्ष पहले हुए प्रवीण हत्याकांड का मुख्य चश्मदीद गवाह था। उसी मामले में गवाही के चलते परिजनों ने उसकी हत्या किए जाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस संबंध में आठ के खिलाफ हत्या व हत्या का षड्यंत्र रचने का मामला दर्ज किया गया है। हत्या के आरोप में एक आरोपी को नामजद भी किया गया है।

ग्रामीणों का आरोप प्रवीण हत्याकांड का एकमात्र चश्मदीद था विरेंद्र

वहीं मुख्य गवाह की हत्या के बाद गुस्साए परिजनों ने रात को सैलून का शटर गिरा दिया था। रात भर परिजन मामले में उच्च अधिकारियों को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। रात को तहसीलदार ने मौके पर पहुंचकर लोगों को समझाने का प्रयास किया था, लेकिन वह नहीं माने थे। आखिरकर सोमवार तड़के करीब चार बजे परिजन शव उठाने को तैयार हुए। सुबह अस्पताल में पहुंचे एसडीएम निशांत यादव ने ग्रामीणों को ठोस कार्रवाई का आश्वासन दिया। जिसके बाद ही पोस्टमार्टम कराया जा सका।

रविवार रात आठ बजकर 33 मिनट पर गांव सेरसा निवासी विरेंद्र उर्फ धाकड़ अपने सैलून में एक ग्राहक की सेविंग करने में व्यस्त था। इसी दौरान आठ बजकर 33 मिनट 14 सेकेंड पर एक हमलावर सिर पर हेलमेट पहन हाथ में पिस्टल लेकर उसके सैलून में दाखिल हुआ और आठ बजकर 33 मिनट 17 सेंकेंड पर विरेंद्र के सीने में गोली मार दी।

गोली लगते ही विरेंद्र फर्श पर गिर गया। अचानक चली गोली से ग्राहक कुर्सी से उठकर बाहर की तरफ भागा तो इसी दौरान दूसरा हमलावर सैलून में घूसा था। दूसरा हमलावर चेहरे पर कपड़ा बांधकर अंदर आया और उसने पहली गोली चलने के महज पांच सेकेंड बाद फर्श पर पीठ के बल गिरे विरेंद्र की कमर में गोली मार दी। बाद में हमलावर एक ही बाइक पर सवार होकर हथियार लहराते हुए फरार हो गए। गोली चलने की आवाज सुनते ही घटना के महज 22 सेकेंड बाद ही परिजन विरेंद्र के पास पहुंचे, लेकिन तब तक वहां बहुत खून बह चुका था।

जान बचाने के लिए घर के पास बनाया सैलून

मार्च, 2016 में विरेंद्र उर्फ धाकड़ पर हुए हमले के बाद उसने अपनी जान बचाने के लिए घर के पास ही सैलून बना लिया था।

आठ के खिलाफ हत्या व षड्यंत्र का मामला दर्ज

पुलिस ने विरेंद्र के पिता जयभगवान के बयान पर गांव के शांतनु व दो अन्य को हत्या के मामले में नामजद किया है। वहीं जेल में बंद संदीप व अमित तथा संदीप मां, बहन योगिता व बहनोई को षड्यंत्र रचने के आरोप में नामजद किया गया है। मामले में संदीप व अमित फिलहाल हत्या व हत्या प्रयास के मामले में जेल में बंद है।

प्रवीण की हत्या के दौरान हुआ था विरेंद्र पर भी हमला

गांव सेरसा में दिल्ली के फायर ब्रिगेड कर्मी प्रवीण की गांव के 26 मार्च, 2016 की रात को गोली मारकर हत्या की थी। जिसमें गांव के ही संदीप व अमित को गिरफ्तार कर पुलिस ने वारदात का खुलासा किया था। मामले में हमलावरों ने विरेंद्र को भी गोली मार दी थी, लेकिन उसकी जान बच गई थी।

प्रशासन देगा पूरी मदद: एसडीएम

सामान्य अस्पताल में पहुंचे एसडीएम निशांत यादव ने परिवार की हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं के अनुसार आर्थिक मदद दी जाएगी। साथ ही उन्होंने विरेंद्र के पिता जयभगवान की मांग पर आर्म्स लाइसेंस बनाए जाने की भी बात कही।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top