राज्य

वैट में बढ़ोत्तरी पर फूटा गुस्सा

देहरादून (सकब)। वैट कर में एक प्रतिशत की बढ़ोत्तरी किये जाने के विरोध में व्यापारियों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए इस बढोत्तरी को वापस लिये जाने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित किया। उन्होंने कहा कि इस पर जल्द ही सरकार ने निर्णय नहीं लिया तो प्रदेश व दून बंद की घोषणा की जायेगी।
यहां दून उद्योग व्यापार मंडल के बैनर तले व्यापारी अध्यक्ष विपिन नागलिया के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय में इकट्ठा हुए और वहां पर उन्होंने अपनी मांग के समाधान के लिए प्रदर्शन किया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि पूर्व में साढ़े तेरह प्रतिशत वैट कर सरकार द्वारा वसूल किया जा रहा है और जो राज्य के राजस्व में सहायक है लेकिन सरकार ने गुपचुप तरीके से एक प्रतिशत बढ़ाकर साढ़े 14 प्रतिशत कर दिया, जिसका पुरजोर तरीके से विरोध किया जायेगा।
उनका कहना है कि बीते चार अक्टूबर को जारी शासनादेश के माध्यम से वैट कर एक प्रतिशत की बढ़ोत्तरी कर दी है जो पूर्ण रूप से अनुचित एवं अव्यवहारिक है। उनका कहना है कि वैट कर बढ़ोत्तरी से व्यापारियों में भारी आक्रोश है तथा इस बढोत्तरी का सीधा असर उपभोक्ताओं पर भी पड़ रहा है, इससे राज्य में भारी महंगाई बढ़ेगी और इस बढ़ोत्तरी को तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाना चाहिए, अन्यथा आंदोलन को तेज किया जायेगा।
इस अवसर पर दून उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष विपिन नागलिया, महामंत्री अमरजीत सिंह आनंद, अनिल गोयल, प्रवीन जैन, उमेश अग्रवाल, अनुज जैन, गोपाल पुरी, सुनील मैसोन सहित अन्य व्यापारी मौजूद थे।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top