अंतरराष्ट्रीय ख़बरें

सेना अधिकारी की हत्या में हिजबुल का हाथ होने का संदेह

Lashkar E Taiba, Handler, India, Terrorist

फयाज के शव पर प्रताड़ना का कोई निशान नहीं

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर पुलिस को संदेह है कि हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े आतंकवादियों ने सेना के युवा कश्मीरी अधिकारी लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या की होगी और इस वारदात में पुलिसकर्मियों से छीनी एक इंसास राइफल का इस्तेमाल किया गया होगा। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने यह भी कहा कि फयाज के शव पर प्रताड़ना का कोई निशान नहीं था। हालांकि, पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एसजेएम गिलानी ने कहा, ‘हमने प्रारंभिक जांच की है। यह शोपियां में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के एक मॉड्यूल की ओर इशारा करता है।’

उन्होंने कहा कि दक्षिण कश्मीर में हाल ही में हथियार छीनने की दो घटनाएं हुई हैं। हमारे पास इस बारे में सुराग है कि कुलगाम में हथियार छीनने की घटना को लश्कर आतंकवादियों ने अंजाम दिया, जबकि शोपियां अदालत परिसर में हथियार छीनने की घटना में हिजबुल आतंकवादी शामिल थे। इसलिए यह उन हथियारों में से एक हो सकता है।

गिलानी ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है लेकिन फयाज के शव पर प्रताड़ना का कोई निशान नहीं है। गौरतलब है कि फयाज यहां से करीब 74 किलोमीटर दूर बाटापुरा में अपने मामा की बेटी की शादी में शरीक होने गए थे जहां से मंगलवार रात करीब 10 बजे आतंकवादियों ने उन्हें अगवा कर लिया था। गोलियों से छलनी उनका शव बुधवार सुबह मिला।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top