पंजाब

रिश्वतखोरी का आरोपी तकनीकी शिक्षा बोर्ड का रजिस्ट्रार निलंबित

Suspended, Registrar, Education board, Caption Amarinder Singh, Punjab Govt, Education Minister

भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा: चन्नी

  • सचिव को चार्जशीट करने के आदेश

चंडीगढ़(सच कहूँ न्यूज)। तकनीकी शिक्षा मंत्री पंजाब चरणजीत सिंह चन्नी ने तकनीकी शिक्षा और ओद्यौगिक प्रशिक्षण बोर्ड के रजिस्ट्रार नवनीत वालिया को रिश्वतखोरी और घोटालेबाजी के आरोपों के तहत निलंबित और बोर्ड के सचिव पीसीएस अधिकारी पुनीत गोयल को शीघ्र प्रभाव से फारिग करके प्रसोनल विभाग के पास रिपोर्ट करने के लिए आदेश जारी किए हैं।

चरणजीत सिंह ने सोमवार को इस संबंधी आदेश जारी करते हुए बताया कि इन दोनों अधिकारियों विरूद्ध रिवेल्यूऐशन और परीक्षा केन्द्र अलॉट करने में रिश्वत लेकर घोटाले करने के गंभीर मामले सामने आने के बाद कार्यवाही की गई है। तकनीकी शिक्षामंत्री ने बताया कि रिवेल्यूऐशन के ऐसे मामले सामने आए हैं

कि बच्चों के परीक्षाओं में जीरो नम्बर आने या बहुत कम नम्बर आने के वाबजूद रिवेल्यूऐशन भरवाकर रिश्वत लेकर पास करवा दिया जाता था। उन्होंने बताया कि इन अधिकारियों द्वारा विभिन्न कॉलेजों को परीक्षा केन्द्र अलॉट करने में भी पैसे लेकर परीक्षा केन्द्र अलॉट किए जाते थे। तकनीकी शिक्षा मंत्री ने विभाग को आदेश जारी करते हुए कहा कि नवनीत वालिया और पीसीएस अधिकारी पुनीत गोयल के खिलाफ विस्तारित चार्जशीट तैयार करके अगली कार्यवाही की जाए।

तकनीकी शिक्षा मंत्री ने कहा कि इन अधिकारियों खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने के अतिरिक्त मामले की जांच विजिलैंस से भी कार्यवाही जाएगी। उन्होंने विभाग के सभी अधिकारियों को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि कोई भी अधिकारी चाहे छोटा हो या बड़ा हो, यदि रिश्वतखोरी या घोटालेबाजी करता पाया गया तो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

शीघ्र ही उठाए जाएंगे ठोस कदम

कैप्टन अमरेन्द्र सिंह की अध्यक्षता वाली सरकार द्वारा पंजाब के नवयुवकों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के लिए सरकारी तकनीकी कॉलेजों मे प्रारभिंक ढांचे को मजबूत किये जाने के लिए शीघ्र ही ठोस कदम उठाए जाएंगे। उन्होने कहा कि तकनीकी शिक्षा विभाग को रिवैलयूएशन संबधी नई नीति बनाने के लिए पहले ही हिदायतें जारी कर दी गई है, जिस अनुसार यदि रिवैैल्यूऐशन में 10 नम्बरों से अधिक का अंतर पाया गया तो संबधित अध्यापकों खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top