[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
Breaking News

दक्षिण हरियाणा को मिलेगा विश्वविद्यालय

  • शिक्षा। गुरुग्राम के बादशाहपुर विधानसभा में अगले माह रखी जाएगी आधारशिला
  • लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने दी जानकारी
  • दिसंबर 2017 में शुरु होगा केएमपी का काम

GuruGram, SachKahoon News: प्रदेश सरकार दक्षिण हरियाणा को अलग विश्व विद्यालय की सौगात देने जा रही है। गुरुग्राम के बादशाहपुर विधानसभा में दक्षिण हरियाणा के लिए प्रस्तावित विश्वविद्यालय की आधारशिला आगामी जनवरी माह में रखी जायेगी। हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह रविवार को गुरुग्राम के कुकड़ौला में प्राथमिक उपस्वास्थ्य केंद्र के उद्घाटन उपरांत संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि दक्षिण हरियाणा में यूनिवर्सिटी की मांग बहुत पुरानी है, क्योंकि यहां के युवाओं को यूनिवर्सिटी के काम के लिए रोहतक या कुरुक्षेत्र जाना पड़ता है। जिसमेंं समय और धन दोनो व्यर्थ होते है। लेकिन वर्तमान मुख्यमंत्री ने युवाओं की मांग को प्राथमिकता से लेते हुए इस मांग को मंजूर किया और आगामी जनवरी से इसका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि 2017 के अंत तक कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी)भी पूरी तरह बनकर तैयार हो जाएगा।
इसी प्रकार, केएमपी जिसे गुरुग्राम की लाइफलाइन कहा जाए तो अतिश्योक्ति नही होगी। इसका निर्माण भी पिछले 10 सालो से रुका पड़ा था, पिछले मुख्यमंत्रियों ने केएमपी का केवल हवाई सर्वे किया और अखबारों में फोटो छपवाते रहे। लोक निर्माण मंत्री ने बताया कि वर्तमान मनोहर सरकार ने अपने नाम के अनुसार काम भी मनोहर किए है, इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गत अप्रैल माह में केएमपी का पहला चरण यानि मानेसर से पलवल को आम लोगों के लिए खोल दिया और बचें भाग का काम दिसंबर 2017 तक पूरा कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने सड़क निर्माण को प्राथमिकता से करते हुए पिछले दो वर्षों में 9 नेशनल हाइवे हरियाणा प्रदेश को दिए हंै। इसी प्रकार पटौदी हलके में लगभग 203 करोड़ रूपए के विकास कार्य करवाएं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के गठन से लेकर अब तक पटौदी हलके के साथ भेदभाव होता आया है लेकिन जब से प्रदेश में भाजपा सरकार ने अपना पदभार संभाला है तब से पटौदी विधानसभा का चंहुमुखी विकास हुआ है।

नेशनल व स्टेट चेंपियन छात्रवृत्ति के लिए करें आवेदन
ChandiGarh: राष्ट्रीय व राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं में पदक विजेता प्रतिभाशाली छात्र खिलाड़ियों को छात्रवृत्ति देने के लिए 15 दिसम्बर से 15 जनवरी 2017 तक आवेदन आमंत्रित किये गए हैं। खेल एवं युवा मामले विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रीय प्रतियोगिता के अंतर्गत महाविद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान हासिल करने वाले छात्र खिलाड़ी को 3000 रुपये वार्षिक, दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 2400 रुपये वार्षिक तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले छात्र खिलाड़ी को 1800 रुपये वार्षिक की छात्रवृत्ति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता के तहत विद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान हासिल करने वाले छात्र खिलाड़ी को 2400 रुपये वार्षिक, दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 1800 रुपये वार्षिक तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले छात्र खिलाड़ी को 1200 रुपये वार्षिक की छात्रवृत्ति दी जाएगी।
उन्होंने बताया कि इसी प्रकार, राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के अंतर्गत महाविद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान हासिल करने वाले छात्र खिलाड़ी को 2400 रुपये वार्षिक, दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 1800 रुपये वार्षिक तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले छात्र खिलाड़ी को 1200 रुपये वार्षिक की छात्रवृत्ति दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस प्रतियोगिता के तहत विद्यालय स्तर पर प्रथम स्थान हासिल करने वाले छात्र खिलाड़ी को 1800 रुपये वार्षिक, दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 1500 रुपये वार्षिक तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले छात्र खिलाड़ी को 1200 रुपये वार्षिक की छात्रवृत्ति दी जाएगी। आवेदन एवं अधिक जानकारी के लिए खिलाड़ी विभाग की वैबसाईट ६६६.ँं१८ंल्लं२स्रङ्म१३२.ॅङ्म५.्रल्ल पर सम्पर्क किया जा सकता है।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top