हरियाणा

निजी बस संचालक व रोडवेज कर्मी आमने-सामने

Scramble, Between, Roadways, Workers, Private Bus Drivers, RTA

रोडवेज कर्मी व निजी बस संचालकों के बीच हाथापाई

  • आरटीए सुमित कुमार ने मौके पर पहुंचकर संभाला मोर्चा
  • निजी बसों को बंद करने की मांग

हिसार (सच कहूँ न्यूज)। नई परिवहन नीति के विरोध में दो दिन तक हिसार डिपो की बसों का हिसार व हांसी बस स्टैण्ड पर चक्का जाम रहने के बाद शनिवार को एक बार फिर निजी बस संचालक व रोडवेज कर्मचारी आमने-सामने हो गए। सुबह निजी बस संचालक जब अपनी बसों में सवारियां बैठाने लगे तो रोडवेज कर्मियों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया।

देखते ही देखते मामला हाथापाई तक पहुंच गया। जैसे ही इस मामले का पता रोडवेज प्रशासन को लगा तो उन्होंने स्थिति को संभालते हुए आरटीए सुमित कुमार को मौके पर बुला लिया। कार्यालय में सूचना देकर रोडवेज प्रशासन ने समय रहते ही स्थिति को संभाल लिया और आरटीए कार्यालय में घटनाक्रम की जानकारी देकर आरटीए को मौके पर बुलाया।

दोपहर तक निजी बस संचालक आरटीए को रूट परमिट दिखाकर बसों को चलाने की मांग पर अड़े रहे। रोडवेज कर्मचारियों ने बसों को न चलने देने की मांग उठाई। कर्मचारी नेताओं ने कहा कि यदि निजी बसें नई परिवहन नीति लागू होने से पहले चलाई जाती हैं तो चक्का जाम दोबारा भी किया जा सकता है, जिस दौरान आमजन को होने वाली परेशानी के जिम्मेवार अधिकारी होंगे। दोपहर को स्थिति दोबार एक बार फिर बदल गई।

निजी बस संचालकों ने आरटीए का किया घेराव

निजी बस संचालकों ने आरटीए का घेराव कर बसों का चलाने की अनुमति मांगी। रोडवेज कर्मचारियों की शिकायत पर आखिरकार आरटीए ने निजी बसों की चैकिंग आरंभ की और दस्तावेज व अन्य नियमों की अवहेलना करने वाली चार निजी बसों के चालान किए। इस दौरान निजी बस संचालकों ने रोडवेज की उन बसों के भी चालान करने की मांग उठाई, जो आरटीए कार्यालय के तय नियमों को पूरा नहीं करते।

रोडवेजकर्मी संगठनों से जुड़े नेताओं ने कहा कि बीते दिन उनकी और प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक में इसी बात पर चक्का जाम वापस लिया गया था कि नए परमिट वाली नीजि बसों को बस स्टैंड की 50 मीटर की दूरी में भी नहीं आने दिया जाएगा। रोडवेजकर्मियों का आरोप है कि इसके बावजूद सुबह जब एक-दो नहीं बल्कि नए परमिट वाली 14 बसें बस स्टैंड में आ गर्इं और इनमें से 2 बसों ने तो सवारी भी लोड कर बस स्टैंड से निकल गर्इं।

आरोप है कि जब रोडवेज कर्मचारी नेता मौके पर पहुंचे तो नीजि बस संचालकों और उनके साथ आए 20-25 लोगों ने कर्मचारी नेताओं के साथ हाथापाई भी की। मामला बढ़ता देखकर आरटीए कार्यालय के अधिकारियों ने 12 बसों को बस स्टैण्ड परिसर से बाहर निकाल दिया।

आज तय की जाएगी आगामी रणनीति

हिसार। हरियाणा रोडवेज ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने आरटीए कार्यालय के गैर जिम्मेवार रवैये पर गहरा रोष जताते हुए उन पर रोडवेज कर्मियों को आंदोलन के लिए उकसाने का आरोप लगाया है। रोडवेज नेताओं ने कहा कि कहा कि आज 11 जून को ज्वाइंट एक्शन कमेटी की बैठक होगी, जिसमें आगामी रणनीति तय की जाएगी और यदि परिवहन अधिकारी नहीं चेते तो प्रभावी आंदोलन का ऐलान किया जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top