दिल्ली एनसीआर

33 लाख की लूट का खुलासा

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। शकरपुर इलाके में हुई 33 लाख रुपये की लूट में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार कर मामले को सुलझाने का दावा किया है। गिरफ्तार आरोपियों में कपड़ा कारोबार का एक कर्मचारी देवेंद्र कुमार अग्रवाल (42) भी शामिल है। अन्य आरोपियों की पहचान हर्षित (19), इलियास (34), मोहन (28) और मोहम्मद सोनू मलिक (20) के रूप में हुई है। जांच के दौरान कारोबारी के दूसरे कर्मचारी नीरज को पुलिस ने क्लीन चिट दे दी है। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए आरोपियों में हर्षित दिल्ली विश्वविद्यालय में बीकॉम का छात्र है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से कुल 23.27 लाख रुपये बरामद हुए हैं। बाकी की रकम के साथ शाहिद नामक आरोपी फरार है।
पुलिस उपायुक्त ऋषिपाल ने बताया कि शुक्रवार को गांधी नगर इलाके के कपड़ा कारोबारी प्रमोद गुप्ता के दो कर्मचारी देवेंद्र कुमार और नीरज करोलबाग इलाके से 33 लाख रुपये का भुगतान लेकर लौट रहे थे। इस बीच पुश्ता रोड पर पल्सर मोटरसाइकिल पर सवार बदमाशों ने उनसे रुपये से भरा बैग लूट लिया था।
मामले की जांच के लिए एसीपी संजीव गुप्ता की देखरेख में थाना प्रभारी तनवीर अशरफ के नेतृत्व में तीन अलग-अलग टीमें बनाई गई। टीम ने देवेंद्र और नीरज से पूछताछ की तो देवेंद्र के बयानों पर पुलिस को शक हुआ। इसके साथ ही पुलिस ने कॉल डिटेल भी निकाली। बाद में सख्ती से पूछताछ की गई तो देवेंद्र टूट गया। उसने लूटपाट की वारदात में अपना हाथ होने की बात कबूल कर ली। उसने बताया कि एक माह पूर्व उसने वारदात को अंजाम देने की साजिश रची थी। इसमें उसने अपने साथी इलियास, मोहन, हर्षित, मोहम्मद सोनू मलिक और शाहिद को साथ में लिया। घटना वाले दिन देवेंद्र करोलबाग से निकलने के साथ ही बाकी आरोपियों के साथ संपर्क में था। वह एसएमएस से अपनी लोकेशन बता रहा था। मोहन व हर्षित अलग मोटरसाइकिल पर उनका पीछा कर रहे थे, वहीं सोनू व शाहिद अलग मोटरसाइकिल पर थे। सोनू और शाहिद ने ही चलती स्कूटी से रुपये से भरा बैग लूट लिया।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top