अन्य खबरें

छत्तीसगढ़ की ‘मेरी मर्जी’ तर्ज पर हरियाणा में मिलेगा राशन

प्रदेश के किसी भी अधिकृत डिपो से ले सकेंगे राशन

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। खाद्य एवं आपूर्ति राज्य मंत्री कर्ण देव कंबोज ने कहा कि प्रदेश सरकार छत्तीसगढ़ राज्य की तर्ज पर ‘मेरी मर्जी’ योजना के तहत एक योजना लाने जा रही है। पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (पीडीएस) की इस योजना के तहत कोई भी राशनकार्ड उपभोक्ता प्रदेश में किसी भी अधिकृत डिपो पर राशन ले सकेगा।

आधार होगा अनिवार्य, 1 जुलाई से लागू होगी योजना

योजना पायलट प्रौजक्ट के तौर पर 6 जिलों में शुरू कर दी गई है और सरकार का 1 जुलाई से पूरे प्रदेश में शुरू करने का प्लॉन है। सच कहूँ से बातचीत में कर्ण देव कंबोज ने बताया कि सरकार चाहती है कि राशनकार्ड उपभोक्ता को आजादी मिले तथा वह अपनी सुविधानुसार प्रदेश के किसी भी कोने में बसे डिपो से राशन ले सके। इस लिए छत्तीसगढ़ की ‘मेरी मर्जी’ योजना को स्टडी कर हरियाणा में भी ऐसी ही योजना लागू की जा रही है। जिसमें उपभोक्ता अपनी सुविधानुसार किसी भी डिपो से राशन ले सकेगा।

मंत्री ने बताया कि जिन लोगों ने राशनकार्ड के साथ आधारकार्ड अटैच अभी तक नहीं करवाए हैं उनका राशन बंद कर दिया गया है। लोगों के आधार कार्ड अटैच न करवाने के पीछे कंबोज ने कहा कि यहां जागरूकता की कमी है। इसलिए सरकार जनप्रतिनिधियों के साथ मिल कर पूरे प्रदेश के लोगों को जागरूक कर रही है ताकि जरूरतमंद उपभोक्ता अपना राशनकार्ड आधारकार्ड से अटैच करवाए और बायोमैट्रिक मशीन पर अंगूठा लगाकर राशन प्राप्त करे।

छह जिलों में शुरू हो चुका है पायलेट प्रोजेक्ट

कंबोज ने बताया कि प्रदेश सरकार राज्य के 6 जिलों हिसार, अंबाला, पंचकूला, कुरुक्षेत्र, कैथल और झज्जर में पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में इस योजना को लागू कर चुकी है और 1 जुलाई से पूरे प्रदेश में इसे लागू करने जा रही है।

डिपो धारकों को नहीं होगी परेशानी

उपभोक्ता को किसी भी डिपो से राशन लेने की आजादी के बाद कुछेक डिपो के बंद होने की नौबत भी आ सकती है। इस सवाल पर कंबोज ने कहा कि नहीं ऐसा नहीं होगा। क्योंकि आजकल कंपीटीशन का जमाना है, हर कोई अपना माल बेचना चाहता है। कंपीटीशन का जरूर सामना करना पड़ेगा। अपना डिपो चलाने के लिए डिपोधारक को अपने आचार-व्यवहार को सही रखना होगा, तालमेल बना कर रखना होगा, जिससे आम जनता का ही फायदा होगा। अगर कहीं फिर भी ऐसा मामला सामने आया, जिसमें डिपो खाली है और जहां से राशन नहीं खरीदा जा रहा, फिर सरकार उसे बंद करने पर भी विचार कर सकती है।

18% बोगस निकले राशन कार्ड

मंत्री कर्णदेव कंबोज ने बताया कि सरकार द्वारा की गई सख्ती एवं जांच के बाद कुल राशनकार्डांे में 18 फीसदी राशन कार्ड बोगस निकले हैं, जिन पर राशन लिया जा रहा था। उन्होंने बताया कि जिन राशन कार्डों को आधार कार्ड के साथ लिंक्ड नहीं किया गया था, उन्हें भी लिंक्ड किया जा रहा है। उनके अनुसार प्रदेश के कुछ जिले ऐसे हैं, जहां 95 फीसदी राशन कार्ड आधार कार्ड से लिंक्ड कर दिए गए हैं। वहीं कुछेक ऐसे भी है, जहां अभी 70 फीसदी आधार कार्ड ही राशन कार्ड से जोड़े गए हैं।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top