खेल

राजकोट टेस्टः पहले दिन इंग्लैंड ने 4 विकेट पर 311 रन बनाये

राजकोट:  गुजरात के राजकोट में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट के पहले दिन इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते 4 विकेट पर 311 रन बनाये। शतकवीर जो रूट और सैकड़े से एक रन के फासले पर खड़े मोईन अली के बीच चौथे विकेट के लिये 179 रन की साझेदारी की मदद से इंग्लैंड ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए भारत के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन आज चार विकेट पर 311 रन बनाये। एक समय पर इंग्लैंड ने तीन विकेट 102 रन पर गंवा दिये थे लेकिन इसके बाद रूट और अली ने पारी को संभाला। रूट ने अपने करियर का 11वां टेस्ट शतक जड़ते हुए 180 गेंद में 124 रन बनाये जिसमें 11 चौके और एक छक्का शामिल था। वहीं अली 99 रन बनाकर खेल रहे हैं जिन्होंने अपनी संयमित पारी में 192 गेंदों का सामना किया और नौ बार गेंद को सीमारेखा तक पहुंचाया। अली दुनिया के 15वें और इंग्लैंड के पांचवें बल्लेबाज बन गये हैं जो दिन का खेल समाप्त होने पर 99 रन पर नाबाद हैं। भारतीयों ने शुरुआती सत्र में लचर फील्डिंग का नमूना पेश किया और कई आसान कैच टपकाये। गेंदबाजों ने भी टुकड़ों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन लंच से चाय के बीच में इंग्लैंड के बल्लेबाज हावी रहे। आखिरी सत्र में रूट का विकेट गिरा जिससे यह साझेदारी टूटी लेकिन अली एक छोर संभलकर खेल रहे हैं। पहली बार टेस्ट की मेजबानी कर रहे शहर में टॉस जीतकर इंग्लैंड ने बल्लेबाजी का फैसला किया था। मेहमान टीम ने कप्तान एलेस्टेयर कुक (21) और पहला टेस्ट खेल रहे हसीब हमीद (31) के विकेट जल्दी गंवा दिये। लंच से ठीक पहले अश्विन ने बेन डकेट (13) को अपना दूसरा शिकार बनाया। ऑफ स्पिनर अश्विन ने हमीद का विकेट लिया और उनका विकेट भारत में किसी टेस्ट में डीआरएस का पहला फैसला रहा। अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे जडेजा ने भारत को 47 के स्कोर पर पहली सफलता दिलाते हुए इंग्लैंड के कप्तान कुक को पगबाधा आउट किया। इंग्लैंड के दोनों सलामी बल्लेबाज पगबाधा आउट हुए। डीआरएस के मामले में इंग्लैंड ने दोनों बार चूक की। पहले तो कप्तान कुक के फैसले के खिलाफ डीआरएस नहीं लिया और फिर हमीद के पगबाधा के खिलाफ डीआरएस का इस्तेमाल किया। सिक्के की उछाल में किस्मत का साथ नहीं मिलने के बाद भारत ने शुरुआती क्षणों में खराब क्षेत्ररक्षण किया और कुछ आसान कैच टपकाये। तीसरी ही गेंद पर अजिंक्य रहाणे ने शमी की गेंद पर गली में कुक का कैच छोड़ा। इसके बाद मुरली विजय ने पहली स्लिप में उमेश यादव की गेंद पर हमीद का कैच टपकाया। उस समय वह 13 के स्कोर पर था। इंग्लैंड ने 10 ओवर में 35 रन बना लिये थे जिसके बाद स्पिनरों को गेंद सौंपी गई। भारत को पहली सफलता जडेजा ने दिलाई जब कुक लेग साइड पर खेलने के प्रयास में पगबाधा आउट हो गए। रूट और हमीद ने इसके बाद संभलकर बल्लेबाजी की। रूट ने अश्विन को सातवें ओवर में कवर में लगातार दो चौके लगाये। अश्विन ने दो ओवर बाद बदला चुकता करते हुए उसे पवेलियन भेजा। भारतीय सरजमीं पर पहली बार किसी टीम ने डीआरएस का इस्तेमाल किया लेकिन फैसला उनके अनुकूल नहीं रहा और अंपायर के फैसले को सही ठहराया गया। हमीद छह चौकों की मदद से 31 रन बनाकर आउट हुए। इस बीच डकेट ने अश्विन को दो स्वीप शाट और एक्स्ट्रा कवर में खेलकर चौके जड़े। अगले ओवर में अश्विन ने उन्हें स्लिप में रहाणे के हाथों लपकवाकर इंग्लैंड को तीसरा झटका दिया। चाय से ठीक पहले रूट को जीवनदान मिला जब उमेश यादव की गेंद पर पगबाधा की अपील डीआरएस के जरिये नामंजूर हो गई। मैदानी अंपायर ने उन्हें नाट आउट करार दिया लेकिन भारतीयों ने डीआरएस का इस्तेमाल किया हालांकि मूल फैसला यथावत रहा। कप्तान कोहली ने चौथे विकेट की साझेदारी तोड़ने के लिये दोनों ओर से गेंदबाजी में बदलाव किये लेकिन रूट और अली ने डटकर खेलते हुए उन्हें कामयाबी हाथ नहीं लगने दी। रूट ने 68वें ओवर में अश्विन की गेंद पर दो रन लेकर अपना 11वां टेस्ट शतक पूरा किया जो एशियाई सरजमीं पर उनका पहला सैकड़ा भी है। इसके दो ओवर बाद उन्होंने जडेजा को छक्का जड़कर अपने खतरनाक तेवर जाहिर किये। दूसरे छोर से अली ने भी ढीली गेंदों को नसीहत देना जारी रखा। दोनों ने अश्विन को 76वें ओवर में एक एक चौका जड़ा और उन्हें खेलने में दोनों को कोई परेशानी नहीं हो रही थी। अपने स्पिनरों को कामयाबी नहीं मिलती देख कोहली ने 81वें ओवर में नयी गेंद यादव को सौंपी और इसका फायदा रूट के विकेट के रूप में मिला। रूट का विकेट काफी नाटकीय रहा चूंकि यादव ने रिटर्न कैच लपकते ही जश्न में गेंद को उछाल दिया। रूट अपनी जगह पर खड़े रहे और मैदानी अंपायर राड टकर को तीसरे अंपायर से मशविरा करना पड़ा कि गेंदबाज ने गेंद हाथ में कुछ देर पकड़ी भी थी या नहीं। अंपायर का फैसला गेंदबाज के अनुकूल रहा और रूट पवेलियन लौटे। इसके बाद आये बेन स्टोक्स ने अली का बखूबी साथ देते हुए कोई और विकेट गिरने नहीं दिया। वह 41 गेंद में दो चौके और एक छक्के के साथ 19 रन बनाकर खेल रहे हैं। इससे पहले भारत ने इस मैच में पांच गेंदबाजों को उतारा जिसमें तीसरे स्पिनर के रूप में अमित मिश्रा को जगह दी गई। एजेंसी 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top