पंजाब

बारिश से लुढ़का पारा, मौसम हुआ खुशगवार

Heat, Summer, Rain, Relief, Punjab

राहत: मौसम विभाग ने आगामी दो दिनों में तेज बारिश होने की संभावना जताई

  • दो घंटे की बरसात से शहर हुआ जलमग्न
  • तेज आंधी ने उड़ाए दुकानों के बोर्ड व तिरपालें
  • बरनाला में बिजली सप्लाई भी हुई प्रभावित

बरनाला (जीवन)। चिलचिलाती धूप व भीषण गर्मी से परेशान लोगों को बुधवार सुबह दो घंटे की हुई बारिश से राहत मिली है। वहीं बुधवार सुबह करीब 5 से सात बजे तक शहर में हुई 2 घंटे तक बारिश ने शहर को जलमग्न कर दिया, इससे आम लोगों को जहां गर्मी से राहत मिली है वही किसानों की धान की पनीरी को भी पानी मिलने से उनका महंगे भाव का डीजल व बिजली की बचत होने से खुशी का आलम है, लेकिन बारिश से पहले चली तेज आंधी ने लोगों की दुकानों पर लगी तिरपालें व बोर्ड दूर दूर जा गिरे। इसके अलावा शहर के अधिकतर क्षेत्रों में।

बिजली सप्लाई प्रभावित

बिजली सप्लाई प्रभावित हो गई, जो कि दोपहर दो बजे सुचारू हो पाई। इसकी वजह से लोगों के घरों में पीने का पानी भी नहीं पहुंच पाया। बारिश से सदर बाजार, बस स्टैंड रोड, प्रेम प्रधान मार्केट आदि क्षेत्रों में पानी भर गया, जिसके चलते लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कुल मिलाकर पारा 44 से घटकर 34 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जिससे लोगों का गर्मी से राहत मिल गई।

शहर के दोनों पार्कों में बच्चे व अन्य लोग सैर व अन्य खेल कूद करके आनंद लेते रहे। नगर कौंसिल के अध्यक्ष संजीव शौरी ने कहा कि बारिश के जल जमाव से छुटकारा पाने के लिए नगर कौंसिल के कर्मी काम में जुट गए हैं, जल्द ही बारिश के पानी की निकासी हो जाएगी।

बारिश नरमे की फसल के लिए लाभकारी है। बारिश होती है तो किसानों को फसल अच्छी होगी। बारिश से गर्मी से भी राहत मिलेगी।
-गुरिदत्ता सिद्धू, जिला खेतीबाड़ी अधिकारी, मानसा।

मानसा में हुई रिकॉर्ड तोड़ बारिश

मानसा (सुखजीत)। जिले में हुई 17 एमएम बारिश ने रिकॉर्डतोड़ गर्मी से लोगों को राहत पहुंचाई है। तेज हवाओं व बारिश से शहर में बिजली सप्लाई कई घंटों प्रभावित रही। मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार आने वाले दो दिनों में भी बारिश होने का अनुमान है। बुधवार तड़के ही आसमान में काले बादल छा गए थे। सुबह के समय तेज हवाओं ने लोगों को काफी परेशान किया। मौसम विभाग के अनुसार 11 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलीं। इससे कई पेड़ों की टहनियां टूट गई व लोगों का कुछ सामान भी बिखर गया।

किसानों के चेहरे खिले

सरदूलगढ़ के किसान अवतार सिंह तारी, किसान लाभ सिंह व नरेश जैन ने कहा कि बारिश के साथ यहां नरमे की फसल को लाभ मिला है, धान के लिए तैयार की गई जमीन की सिंचाई हो गई। उन्होंने कहा कि बारिश से क्षेत्र में पड़ रही भीषण गर्मी से भी लोगों को राहत मिली है। कृषि विकास अधिकारी मनोज कुमार ने कहा कि इस बारिश से किसानों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में 17 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई है।

बरसात से हुई ये परेशानियां

  • निचली जगहों पर बारिश के पानी का भराव हो गया।
  • बारिश से निपटने के लिए किए दावे कागजी नगर आए।
  • पानी सड़कों पर जमा हो गया।
  • राहगीरों को काफी परेशानियां झेलनी पड़ी
  • शहर की सड़कों पर कीचड़ जैसा माहौल बन गया।
  • कुछ इलाकों में बिजली की सप्लाई प्रभावित रही

पारा 28 डिग्री पहुंचा

गर्मी से मानसा का तापमान 45 डिग्री को भी पार कर गया था। बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 22 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। नमी की अधिकतम मात्रा 86 फीसद रही। प्री मानूसन बारिश ने शहर की ड्रेनेज व्यवस्था पर सवालिया निशान भी लगा दिए हैं। प्री मानसून में शहर का यह हाल है तो मानसून के दौरान शहर में बारिश का पानी कितना लोगों को परेशान करेगा, इसका सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top