पंजाब

पंजाबियों ने पूरी दुनिया में मनवाया लोहा: प्रधानमंत्री

Punjabis, Narendra Modi, MLKhattar, Parkash Singh Badal, Kisan Raily

किसानों को वायदे अनुसार 50 से 97 प्रतिशत लागत मूल्य से अधिक लाभ के निर्णय के अलावा ‘वन पैंशन वन रैक ’ को दी स्वीकृति : मनोहर लाल

  • प्रधानमंत्री ने फसलों के समर्थन मूल्य में विस्तार कर लिया ऐतिहासिक निर्णय : प्रकाश सिंह बादल

मलोट(मनोज)। पंजाबियों ने आज देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लोगों की सेवा कर पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवाया है, मैं देश के लिए बलिदान देने वाले बहादुरों की धरती को नमन् करता हूं, हमारी सरकार ने बॉर्डर पर तैनान जवानों व खेतों में काम कर रहे किसानों की समस्याआें का हल किया है। यह बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अकाली-भाजपा द्वारा मलोट में आयोजित की गई धन्यवाद रैली (किसान कल्याण रैली) में लोगों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने लम्बा समय राज करने पर भी किसानों को उनका बनता मान सम्मान न देकर उनको खुशहाल बनाने के स्थान पर हताश किया है।

बढ़े रेटों से किसानों को 4500 करोड़ व आढ़तियों को एक सौ करोड़ का मिलेगा लाभ : सुखबीर बादल

कांग्रेस ने अवैज्ञानिक योजना बना कर खुद के परिवार के लिए ही काम किया है, किसानों के लिए घोषणाएं तो की परंतु दस प्रतिशत लाभ तक ही सीमित रही, किसानों को झूठ बोल कर किया वायदा न निभा कर धोखा ही किया। परंतु एनडीए सरकार ने ‘वन पैंशन वन रैंक’ लागू करने के अलावा किसानों के साथ किए वायदे अनुसार लागत मूल्य से 50 प्रतिशत से 97 प्रतिशत तक रेट बढ़ाकर अपना वायदा पूरा किया है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार द्वारा 2022 तक किसानों को उनकी लागत मूल्य का दुगुना रेट दिलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि मलोट कपास के कारण सफेद सोना के नाम से प्रसिद्ध है व मलोट पंजाब, हरियाणा व राजस्थान को भी के साथ जोड़ता है इस लिए आज तीनों स्टेटों के किसानों का तांता लगा हुआ है।

किसानों को दिए गए 15 करोड़ स्वाईन हेल्प कार्ड

अनाज के भंडार में भी रिकार्ड तोड़ पैदावार है। उन्होंनें कहा कि अब किसानों को नरमे में 11 सौ का विस्तार, कपास के छोटे रेशों का रेट 5150 रुपये, बड़े रेशों का रेट 5450 रुपये, धान का रेट दो सौ रूपये बढ़ाकर लागत मूल्य से 1150 रुपये से बढ़ाकर1750 रुपये, छोटे किसान जो बाजरा की बिजाई करते हैं उनका रेट दुगुना बढ़ाया गया है, ठेके पर कृषि करने वाले किसानों का भी ध्यान रखा गया है। उनके लिए मशीन का किराया, बीज खाद, सिंचाई व खर्च लागत में लगाया गया है। यह सब देख कर कांग्रेसियों की नींद खराब हो गई है।

किसानों को 15 करोड़ स्वाईन हेल्प कार्ड दिए गए हैं। कांग्रेस ने अपने समय में मिट्टी की जांच के लिए 50 करोड़ रुपये लगाए गए थे जबकि एनडीए की सरकार ने 4 सालों में 12 सौ करोड़ रुपये खर्च किए गए। कांग्रेस के समय अच्छे बीजों की 450 वैरायटियां उपलब्ध करवाई थीं जबकि एनडीए सरकार ने 4 सालों में 800 वैरायटियां के बीज किसानों को दिए गए हैं। किसानों को दूध, मधु-मक्खी पालन में पूरा सहयोग दिया जा रहा है।

किसानों से पराली न जलाने की अपील

प्रधानमंत्री ने कहा कि पराली जलाने की समस्या को देखते केंद्र सरकार ने गंभीरता से लेते पराली न जलाने के लिए 50 करोड़ की सहायता राशि जारी कर रही है। उन्होंने किसानों को कहा कि कृपा कर वह पराली न जलाएं व इसे जमीन में ही प्रयोग करने के साथ जमीन की उपज शक्ति बढ़ेगी और बढ़ रहे प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगी।

देश के 50 लाख जरूरतमन्द परिवारों को 5 लाख रुपये की स्वास्थ्य सुविधा नि:शुल्क दी जायेगी, इस के अलावा उज्जवल योजना के अंतर्गत 7 लाख लोगों को गैस कनैक्शन, टीकाकरण, बिजली बचाने के लिए एलईडी बल्ब लगााने, जन धन योजना के अंतर्गत 60 लाख लोगों के खाते खोले गए। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट अनुसार हरियाणा भारत में तीसरे नंबर पर आया है। अब पंजाब की कांग्रेस सरकार से आप ही पूछो कि वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट में पंजाब क्यों पिछड़ गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोगों से कहा, आओ! हम सभी मिल कर नये भारत का निर्माण करें।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top