Breaking News

पंजाब एंड सिंध बैंक से सात लाख चोरी

  • उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे, जांच शुरु
  • सेफ ने खुलने से बचे अढ़ाई करोड़ रुपए

Abohar, Naresh/Sudhir:  एक ओर जहां नोटबंदी के बाद बंैकों में कैश की कमी होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं बीती रात चोरों ने अनाज मंडी स्थित पंजाब एंड सिंध बैंक की शाखा में धावा बोलकर वहां से करीब 7 लाख रूपए पार कर लिए। शुक्रवार सुबह घटना का पता चलते ही पुलिस उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे और घटना की जांच शुरू कर दी।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह साढेÞ 8 बजे बैंक का सफाई कर्मचारी काला बैंक में सफाई करने पहुंचा तो उसने देखा के बैंक के मेन गेट का ताला टूटा हुआ था और बैंक में रखी अलमारी भी टूटी हुई थी। उसने इस बात की सूचना बैंक के प्रबंधक एसपी सिंह व अन्य अधिकारियों को दी, जिस पर एसपी सिंह मौके पर पहुंचे तो देखा कि टूटी हुई अलमारी से करीब सात लाख रूपए गायब थे जिसमें करीब ढाई लाख के छोटे नोट (50-100 रूपए के) व 4 लाख के पुराने नोट 500 और 1000 के नोट शामिल थे।
एसपी सिंह ने बताया कि चोर अलमारी में बनी सेफ को खोलने में कामयाब नहीं हो सके। हालांकि उन्होंने कटर का इस्तेमाल भी किया लेकिन वे सेफ नहीं खोल सके। जिस कारण बैंक में रखा अन्य कैश बच गया। उन्होंने बताया कि बैंक में करीब अढ़ाई करोड़ रूपए मौजूद थे। उन्होंने तुरंत इस बात की सूचना थाना नंबर 1 की पुलिस को दी, जिस पर एसपी बलराज सिंह, एसपीडी बलजीत सिंह, डीएसपी दीपक राए व ए आर शर्मा, थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे ओर जांच शुरू कर दी।

मौके से चोरों द्वारा प्रयोग किए गए औजार भी बरामद हुए हैं। इस घटना का सबसे बड़ा कारण यह रहा कि बैंक में न तो चौकीदार है और न ही कैमरे लगे हुए हैं जिस कारण यह बैंक में चोरी की तीसरी घटना हो चुकी है।

घटना का जायजा लिया
एसपी सिंह ने बताया कि वे कई बार बैंक के उच्चाधिकारियों को कैमरे लगवाने की गुहार लगा चुके हैं लेकिन आज तक कैमरे नहीं लगाए गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इससे पहले इस बैंक में चोरों ने एक बार दीवार में सेंध लगाकर एलसीडी व कंप्यूटर चुराए थे जबकि वर्ष 2014 में बैंक का एटीएम भी तोड़ा था जो आज तक बंद पड़ा है। इस घटना की गंभीरता को देखते हुए एसएसपी फाजिल्का नरेन्द्र भार्गव मौके पर पहुंचे और घटना का जायजा लिया।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top