Breaking News

कैशलेस को बढ़ावा, जल्द बनेगा डिजीटल इंडिया

  • संगरूर में 30 प्रतिशत दुकानदारों ने अपनाया
  • लोग पेटीएम, डेबिट/ क्रेडिट कार्ड से कर रहे भुगतान

Sangrur, Naresh:  नोटबंदी के बाद कैशलेस लेनदेन की ओर से लोग तेजी से कदम बढ़ा रहे हैं। ई-पेमेंट आसान है। यदि आपके पास स्मार्ट फोन है तो आप भुगतान के लिए एप डाउनलोड कीजिए और बैंक से ई-ट्रांजेक्शन कीजिए। लेकिन ध्यान रखा जाए कि पासवर्ड और गोपनीय जानकारी किसी को न दें। ई-वालेट के लिए प्राइवेट कंपनी के पीटीएम के अलावा विभिन्न बैंकों के एप भी मोबाइल के प्ले स्टोर पर उपलब्ध है।
संगरूर में लगभग 30 प्रतिशत दुकानदारों ने अपनी, दुकानों पर डेबिट क्रेडिट कार्ड, पेटीएम की सुविधा ले ली है जब इस प्रतिनिधि ने इस संबंधी एक प्रेमी फ्रूट जूस नामक दुकान के मालिक मंगत राम से बातचीत की तो उन्होंने कहा कि आज पंजाब सहित पूरे देश में नकदी की किल्लत होने के कारण उनकी दुकानदारी भी प्रभावित होने लगी थी। उन्होंने इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए पेटीएम की सुविधा ले ली है। उन्होंने बताया कि इससे उनका बैंक अकाउंट इस सॉफ्टवेयर के जरिये खुल जाता है और इसके कोड के जरिये ग्राहक की अदायगी सीधी उसके खातो में आ जाती है।
एक अन्य दुकान के मालिक रवि कुमार ने बताया कि वह कुछ दिन पहले अपनी दुकान पर स्वाईपिंग मशीन रखी है जिससे डेबिट क्रेडिट कार्ड के द्वारा आसानी से अदायगी हो रही है। उसने बताया कि हैरानी की बात है उसकी दुकान पर ज्यादा ग्राहक गांवों से आते हैं और ज्यादा गांवों के लोग कार्ड का प्रयोग कर रहे हैं।

कैशलेस होने क्या हैं फायदे
– रुपये सुरक्षित रखने के झंझट से मुक्ति, ई-वॉलेट से करें भुगतान।
– कई कंपनियां ट्रांजेक्शन पर छूट देती हैं, इसका लाभ उठा सकते हैं।
– अपने मोबाइल फोन के जरिए किसी के खाते में पैसे डाल सकते हैं।
* लेनदेन याद रखने की जरूरत नहीं, एक क्लिक में पूरा डाटा देख सकते हैं।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top