हरियाणा

तीन सालों से दो प्राईमरी स्कूलों का कटा बिजली कनेक्शन

Primary Schools, Mid Day Mile, Worker, Students, Electricity Connection

पेड़ों की छांव में पढ़ने को मजबूर विद्यार्थी, गांव शेरपुरा में स्थित है प्राइमरी गर्ल्ज व ब्वॉयज स्कूल | Primary Schools

  • फंड न मिलने के कारण नहीं जुड़वा पाए कनेक्शन

सच कहूँ-सुनील वर्मा/सरसा। एक तरफ प्रदेश का शिक्षा विभाग सरकारी स्कूलों का डिजिटलाइजेशन करने पर जोर दे रहा है, वहीं दूसरी ओर फंड के अभाव में (Primary Schools) सरकारी स्कूलों के विद्युत कनेक्शन कटे पड़े है। जिस कारण इस भीष्ण 42 डिग्री झुलसा देने वाली गर्मी में विद्यार्थियों को पेड़ों की धूप-छांव में पढ़ाई करनी पड़ रही है।

ऐसे प्रबंध सरकार के डिजिटलाइजेशन के दावों की पोल खोल रहे है। जी हां, कुछ ऐसा ही दृश्य है सरसा जिला के गांव शेरपुरा स्थित गर्ल्ज व ब्वायज प्राईमरी स्कूलों का। जहां पिछले एक-दो नहीं बल्कि तीन सालों से विद्युत कनैक्शन कटा पड़ा है। गर्ल्ज स्कूल में जहां 105 बच्चियां शिक्षा ग्रहण करती हैं तो वहीं ब्वायज स्कूल में करीब 85 बच्चे हैं। दोनों स्कूलों का करीब 30 हजार रुपए बिल बकाया पड़ा है, जिसके कारण पिछले तीन सालों से न केवल विद्यार्थी, बल्कि टीचर को भी अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मिड-डे-मील वर्कर घरों से लाती हैं बर्फ

स्कूल में वाटर कूलर तो है। लेकिन बिजली नहीं होने के कारण वह नकारा पड़ा है। स्कूल में पानी की टंकी तो बनी हुई है। लेकिन वह धूप में है। जिसके कारण पानी गर्म हो जाता है। झुलसा देने वाली भीष्ण गर्मी में बच्चों को ठंडा पानी भी नसीब नहीं होता। स्कूल में तैनात मिड-डे-मील वर्कर्स अपने घरों से बर्फ लेकर आती हैं और पानी में मिलाकर बच्चों को ठंडा पानी पिलाकर उनकी प्यास को शांत करने का प्रयास करती हैं।

स्कूल से रिपोर्ट लेकर जुडवाएंगे कनेक्शन | Primary Schools

देखिए डीईओ छुट्टी पर चल रहे हैं और उन्हें इस बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। अब वह स्कूल से इस बारे में रिपोर्ट लेंगे और जल्द से जल्द दोनों स्कूलों का बिजली कनेक्शन जुडवाएंगे।
संत कुमार, डिप्टी डीईओ सरसा।

दोनों स्कूलों का करीब 30 हजार बिल बकाया

दोनों स्कूलों के हैड टीचर ने बताया कि उनके कार्यकाल संभालने के वक्त दोनों स्कूलों का करीब 40 से 45 हजार रुपए बिल बकाया था। उन्होंने दो बार में सरकार की ओर आए फंड से कुछ राशि निगम को अदा कर दी। उन्होंने बताया कि अब भी करीब 30 हजार रुपए दोनों स्कूलों का बकाया है।

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

FIFA 2018 World Cup