[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
पंजाब

परीक्षा परिणाम के लिए कर्मचारियों पर दबाब

Pressure, Employees, Exam Result, Punjab University, Patiala

पीयू ने शनिवार, रविवार सहित अन्य छुट्टियां की रद्द

पटियाला(खुशवीर सिंह तूर)। देरी से परिणम घोषित करने के संकट में घिरी पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला की ओर से इस बार परिणाम जल्द निकालने को लेकर अपने कर्मचारियों पर दबाब बनाना जा रहा है।

यहां तक कि कर्मचारियों से शनिवार, रविवार सहित छुट्टियों वाले दिनों में भी काम लिया जा रहा है। इधर दूसरी ओर सीक्रेसी ब्रांच में काम रहे कर्मचारियों को काम करने के लिए अनुकूल जगह की बजाय गर्मी में उत्तर कापियों से भरे स्टोरों में काम करना पड़ रहा है, जिस कारण उनमें रोष पाया जा रहा है।

कर्मचारी उमस भरे उत्तर कापियों वाले स्टोरों में काम करने के लिए मजबूर

जानकारी के अनुसार पंजाबी यूनिवर्सिटी की परीक्षा साखा की ओर से परिणाम जल्द निकालने के कारण यूनिवर्सिटी के टीचिंग विभागों में काम करते कर्मचारियों को परीक्षा साखा में एक माह के लिए काम पर लगाया गया है। सूत्रों का कहना है कि इन कर्मचारियों से उत्तर कापियों के अंतिम पन्ने पर समाप्ति की मोहर लगवाई जा रही है जबकि यह काम परीक्षा केंद्र के कर्मचारियों का है।

इस काम की परीक्षा केंद्र के सैंटर सुपरिटेंडेंट को यूनिवर्सिटी की ओर से पहले ही हिदायत की होती है, परंतु सैंटर में यह काम पूरा करने की जगह अधूरा छोड़ा जा रहा है। पता लगा है कि कंट्रोलर परीक्षा की ओर से कर्मचारियों को शनिवार, रविवार और अन्य छुट्टी वाले दिनों में भी काम के लिए बुलाया जा रहा है। एक कर्मचारी ने बताया कि छुट्टियां न मिलने के कारण वह मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि सेमेस्टर सिस्टम होने के कारण परीक्षा साखा का काम सारा साल ही चलता रहता है। जिस कारण वह अपने परिवारों और बच्चों को भी छुट्टी वाले दिनों में पूरा समय नहीं दे सकते। जो दूसरों विभागों से कर्मचारी परीक्षा साखा में काम के लिए आए हैं, उनको छुट्टी वाले दिन न आने का नोटिस भी निकाला गया है।

यहां काम करते कर्मचारी उत्तर कापियों से भरे ऐसे स्टोरों में ही काम करने को मजबूर हैं। इस जगह न तो हवा क्रॉसिंग की व्यवस्था है और न ही किसी कूलर या ए.सी. आदि का प्रबंध। गर्मी में स्टोरों की उमस में ही कर्मचारी लगे हुए हैं। दो दिन पहले यहां काम करते एक कर्मचारी के बेहोस होने की भी खबर है।

नॉन टीचिंग कर्मचारियों के साथ किया जा रहा है धक्का: रजिन्दर

राजूइस बारे में इंप्लाईज वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान रजिन्दर सिंह राजू का कहना है कि यूनिवर्सिटी में काम करते टीचिंग और नॉन टीचिंग कर्मचारियों के लिए रवैया अलग-अलग है। नॉन टीचिंग कर्मचारियों के साथ धक्का किया जा रहा है। उन्होंने यूनिवर्सिटी अथॉरिटी से मांग करते हुए कहा कि इन कर्मचारियों के साथ हो रहा धक्का तुरंत बंद किया जाए।

मामला हल करने की करेंगे कोशिश

इस बारे में जब परीक्षा कंट्रोलर बलजीत सिंह सिद्धू के साथ बात की गई तो उहोंने अपना फोन नहीं उठाया। जब उनके साथ लगे अधिकारी जीएस बत्तरा के साथ बात की गई तो उन्होंने कहा कि वह इस बारे में परीक्षा कंट्रोलर के साथ बात Ñकरके कर्मचारियों के मसले को हल करने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर कापियों वाली जगह का उनकी ओर से दौरा किया गया था, परंतु काम करने के लिए इतनी दिक्कत नहीं है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top