पंजाब

धान खरीद में अड़चन डालने की तैयारी

Preparation, Bottlenecks, Grain Purchase

एक अप्रैल से शुरू होगी खरीद, विभाग के कार्यालय पर लटकाए नोटिस

पल्लेदारों ने री-टेंडर प्रक्रिया का विरोध किया | Grain Purchase

संघर्ष को तीव्र करने की दी चेतावनी

भटिंडा (सच कहूँ न्यूज)। एक अप्रैल से शुरू हो रही गेहूं की सरकारी खरीद के प्रारंभ में पल्लेदारों का विरोध अड़चन बनने की आशंका है। पंजाब प्रदेश पल्लेदार मजदूर यूनियन ने गेहूं की सरकारी खरीद के लिए री टेंडर की प्रक्रिया का विरोध शुरू कर दिया है। Grain Purchase

यूनियन ने चेतावनी दी है कि यदि लेबर और कार्टेज का टेंडर यूनियन की बगैर सहमति दिया तो विरोध किया जाएगा। खरीद व्यवस्था में सहयोग नहीं दिया जाएगा। यूनियन ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के कार्यालय के मुख्य दरवाजे के शीशे पर इस आशय के दो नोटिस लगा दिए हैं।

सहमति नहीं ली तो नहीं करेंगे सहयोग

यूनियन के प्रधान शिवलाल के अनुसार अगर किसी ठेकेदार ने उनकी सहमति नहीं ली तो वे सहयोग नहीं करेंगे। बैठक में शिवलाल, टिका सिंह प्रधान, जगसीर सिंह, मोती सिंह, गुरदीप सिंह के अलावा यूनियन के भटिंडा, रामपुरा, भुच्चो, मौड़, गोनियाना, तलवंडी साबो व रामा डिपो के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

25 को खुलेंगे रि टेंडर

जिले में सरकारी खरीद में ढुलाई, कार्टेज व लेबर के टेंडर पहले खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ने जारी किए थे। फाइनेंसियल बिड होने से पहले ही सरकार ने टेंडर रद कर दिए। ये टेंडर प्रत्येक जिले में विभाग के डिप्टी डायरेक्टर की अध्यक्षता में बनी कमेटी ने कॉल किए थे। अब प्रत्येक जिले में कमेटी का अध्यक्ष डीसी को बनाया है। दोबारा कॉल किए टेंडर 24 मार्च तक डाले जा सकेंगे। ये टेंडर 25 मार्च को खुलेंगे।

अफसरों को पहले ही बताया

बुधवार को यूनियन के प्रतिनिधियों ने इस पर बैठक की और फिर डीसी व डीएफएससी से मिलकर मांग से अवगत करवाया। यूनियन के प्रतिनिधियों के अनुसार टेंडर की प्रक्रिया आॅनलाइन होने के बाद कई ऐसे ठेकेदार भी टेंडर डालने लगे हैं जिन्हें खरीद में लेबर और कार्टेज का अनुभव नहीं है। इससे खरीद के समय लोडिंग व अनलोडिंग करने वाली मजदूरों को दिक्कत आती है। कई बार ठेकेदार लेबर के रुपये भी नहीं देते। इससे विवाद की स्थिति बनती है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top