हरियाणा

प्रदेश सरकार एवं यूनिसेफ के बीच ‘न्यूमोकोकल कांजूगेट वैक्सिन खरीद’ समझौता

Pneumococcal Conjugate Vaccine, Agreement, State Government, UNICEF, Haryana

बच्चों को अब फ्री लगेगा न्यूमोनिया टीका

  • बाजार में 9 हजार रूपए है टीके की कीमत
  • प्रदेश के 5.5 लाख बच्चों को मिलेगा लाभ
  • जनता को होगी 500 करोड़ रुपए की बचत

चंडीगढ़ (अनिल कक्कड़)। देश भर में 16 फीसदी नवजात बच्चों की मौत का कारण बन रही न्यूमोनिया बीमारी से निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। मार्केट में उपलब्ध 9 हजार से 12 हजार रुपए तक की कीमत के न्यूमोनिया प्रतिरोधी इंजैक्शन को सरकार अब नि:शुल्क मुहैया करवाएगी। इसके लिए मंगलवार को यूनिसेफ इंडिया के साथ राष्ट्रीय  स्वास्थ्य मिशन हरियाणा ने ‘न्यूमोकोकल कांजूगेट वैक्सिन खरीद’ समझौता किया है। समझौता ज्ञापन हरियाणा स्वास्थ्य मिशन हरियाणा की ओर से मिशन निदेशक अमनीत पी.कुमार तथा यूनिसेफ के भारत में प्रतिनिधि लुइस जार्ज आर्सेनॉल्ट ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि इस समझौते से प्रदेश के 5.5 लाख बच्चों को लाभ होगा, जिन्हें इस टीके की तीनों खुराक नि:शुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी। इससे प्रदेश की जनता को लगभग 500 से 600 करोड़ रुपये का वार्षिक लाभ होगा।

लागत पर वैक्सीन मुहैया करवाएगा यूनिसेफ

विज ने कहा कि न्यूमोनिया एक गंभीर बीमारी है, जोकि 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों तथा वृद्ध लोगों को जल्दी चपेट में लेती है। न्यूमोकोकस बैक्टीरिया से होने वाली यह बीमारी देश के करीब 16 फीसदी बच्चों की मृत्यु का कारण बनती है। इसलिए इसको नियंत्रित करने के लिए देश के प्रधानमंत्री के सहयोग से यूनिसेफ हमें यह वैक्सिन लागत मूल्य पर उपलब्ध करवायेगा, जिसका पूरा खर्च हरियाणा सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। यह वैक्सिन राज्य के सरकारी अस्पतालों में आगामी 2-3 महीनों में मिलनी शुरू हो जाएगी।

आशा वर्करों को मुहैया करवाए जाएंगे इलैक्ट्रॉनिक उपक्रम

विज ने कहा कि प्रदेशभर में आशा वर्कर्स को ऐसे इलेक्ट्रोनिक उपकरण उपलब्ध करवाये जाएंगे, जिन पर व्यक्तिगत तौर पर अंगूठा लगाने से टीकाकरण संबंधी पूरी जानकारी उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने कहा कि इस वायरस को नियंत्रित करने हेतु टीकाकरण के लिए आशा वर्कर्स को प्रशिक्षित किया जाएगा ताकि 0 से 5 वर्ष आयु वर्ग तक का कोई भी बच्चा इससे वंचित न रहे।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top