पंजाब

रेत खनन मामले पर ‘आप’ ने खोला मोर्चा

Punjab Legislative, Assembly, AAP, Leader, Arvind Kejriwal, Raised, Strike, Arrested

विधानसभा के बाहर लगाया धरना

  • मंत्री राणा गुरजीत सिंह को बर्खास्त करने की मांग
  • कई आप नेताओं को गिरफ्तार किया

चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। आम आदमी पार्टी ने रेत खनन नीलामी मामले पर राज्य की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी के नेताओं और विधायकों ने इस मामले को लेकर मंगलवार को पंजाब विधानसभा के बाहर प्रदर्शन किया और धरना दिया। ये नेता इस मामले में आरोप से घिरे राज्य के कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह को बर्खास्त करने और गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं।

पुलिस ने प्रदर्शनकारी आप नेताओं को गिरफ्तार कर लिया और बस में ले गई। प्रदर्शन कर रहे नेताओं का नेतृत्व पंजाब आप के प्रधान और सांसद भगवंत मान ने कर रहे हैं। आप नेताओंं ने हाथों में नारे लिखी तख्तियां ले रखी थी। भगवंत मान ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार की असलियत लोगों के सामने आ गई है। रेत खनन नीलामी में घोटाला सामने आने के बावजूद सरकार समुचित कार्रवाई नहीं कर रही है।

मान ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार की असलियत लोगों के सामने आ गई है। रेत खनन नीलामी में घोटाला सामने आने के बावजूद सरकार समुचित कार्रवाई नहीं कर रही है।

ये दिग्गज नेता रहे शामिल

प्रदर्शन में आप विधायक दल के नेता एचएस फुलकां, आप विधायक सुखपाल सिंह खैहरा सहित अन्य वरिष्ठ नेता भी शामिल हैं। आप नेताओं और विधायकों ने विधानसभा परिसर के मुख्य गेट के बाहर धरना दिया और जमकर नारेबाजी की। इसके बाद उन्होंने अंदर घुसने की कोशिश की, लेकिन पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने उनको रोक दिया। धरना और प्रदर्शन में बैंस ब्रदर्स सिमरजीत बैंस और बलविंदर सिंह बैंस भी शामिल हुए।

राणा को बचाने की कोशिश कर रहे कैप्टन

प्रदर्शनकारी नेताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह इस मामले में आरोपों से घिरे अपने कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह को बचाने की कोशिश कर रहे हैं। यह साफ हो चुका है कि राणा गुरजीत इस घोटाले में शामिल हैं तो ऐसे में उन पर तुरंत कार्रवाई की जानी चाहिए। राणा को तुरंत बर्खास्त कर उनको गिरफ्तार किया जाए।

हाईकोर्ट के जज करें मामले की सुनवाई

मान, खैहरा और फूलकां ने राणा की गिरफ्तारी की मांग की। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर आम आदमी पार्टी के वर्कर सोमवार से पूरे पंजाब में धरना देंगे। खैहरा ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा इस मामले में गठित जांच आयोग के अध्यक्ष जस्टिस जेएस नारंग के बेटे अभिजीत नारंग राणा के लीगल एडवाइजर हैं। वह राणा के केस की वकालत करते हैं। ऐसे में जस्टिस नारंग से खुद आयोग से खुद ही हट जाएं और इस मामले की जांच हाईकोर्ट के सिटिंग जज से करवाई जाए।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top