Breaking News

नियत सही रखे पाकिस्तान, आतंकवाद समाप्त करने में हम करेंगे मदद- राजनाथ सिंह

सर्जीकल स्ट्राइक पाकिस्तान की फौज नहीं बल्कि आतंकवाद के खिलाफ हुई
ChandiGarh, Anil Kakkar: देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि भारत को पाकिस्तान से कोई दिक्कत नहीं है बल्कि दिक्कत वहां पनप रहे आतंकवाद से है। और यदि पाकिस्तान सही नियत से आतंकवाद का खात्मा करना चाहता है तो भारत मदद के लिए तैयार है। राजनाथ सिंह आज चंडीगढ़ में क्षेत्रीय संपादक कांफ्रेंस में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

राजनाथ ने कहा कि भारत अपनी सुरक्षा को लेकर किसी भी तरह का समझौता नहीं करेगा और यदि कोई देश भारत की सुरक्षा को तोड़ने की कोशिश करेगा तो उसे माकूल जवाब दिया जाएगा। गृहमंत्री ने कहा कि भारत के साथ 6 देशों की 15 हजार किलोमीटर लंबी सीमा रेखा है लेकिन किसी भी देश द्वारा आतंकवादी हमलों जैसी गतिविधियां नहीं की जाती सिवाय पाकिस्तान के। उन्होंने कहा कि म्यांमार, बांग्लादेश की सीमा रेखा पर नकली करंसी और ड्रग्स की तस्करी होती है लेकिन यह आतंकवाद जितनी बड़ी समस्या नहीं है, इसी लिए दोनों देश मिलकर इस समस्या से भी लड़ रहे हैं और आपसी संबंधी अच्छे हैं। वहीं नेपाल और भूटान की सीमा रेखा पर शांति रहती है साथ ही चीन के साथ भी भारत के संबंध लगातार अच्छे होते जा रहे हैं लेकिन पाकिस्तान ही ऐसा देश है जहां आतंकवाद और फौज के बीच अंतर ही समाप्त हो गया है। इस लिए पाकिस्तान के साथ लगती सीमा को पूरी तरह सील करने की योजना पर केंद्र सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है और अगले दो वर्षांे के दरमियां पाकिस्तान के साथ भारत का बॉर्डर पूरी तरह सील कर दिया जाएगा।

जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन नहीं होगा लागू
राजनाथ सिंह ने कहा कि पिछले 3 महीनों से लगातार अशांत चल रहे जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू नहीं होगा और घाटी में जल्द ही शांति बहाल होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि राज्यपाल या फिर राष्टÑपति शासन कुछ खास हालातों में लगाया जाता है जबकि घाटी में इस समय हालात इतने ज्यादा खराब नहीं है। उन्होंने कहा कि घाटी में उनकी गठजोड़ की सरकार हालातों पर काबू पाने की पूरी कोशिश कर रही है।

केंद्र के इशारे पर हुए पंजाब के सरहदी गांव खाली
तस्वीर साफ करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा पंजाब सरकार पर गांव खाली करवाने का प्रचार बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने ही पंजाब सरकार को 10 किलोमीटर के दायरे में आने वाले गांवों को खाली करवाने के आदेश जारी किए थे। क्योंकि सर्जीकल स्ट्राइक के बाद उम्मीद थी कि पाकिस्तान भी कुछ कर सकता है, इसीलिए गांव के लोगों की सुरक्षा के लिए यह फैसला लिया गया था। उन्होंने कहा कि जब केंद्र सरकार को लगा कि अब बॉर्डर पर किसी भी तरह का माहौल चिंतानजर नहीं है तो खाली हुए गांवों में लोगों को वापिस लौटने के आदेश भी सरकार ने जारी कर दिए थे।
गृहमंत्री के इस ब्यान के बाद कांग्रेस की काफी किरकिरी होने वाली है क्योंकि कांग्रेस इसी मुद्दे पर लगातार पंजाब की अकाली तथा बीजेपी सरकार को घेरने में जुटी थी कि सरकार ने अपनी मर्जी से गांव खाली करवा कर हजारों लोगों को बेघर कर दिया था। हालांकि आज राजनाथ सिंह द्वारा तस्वीर साफ किए जाने पर बहुत से सवालों के जवाब मिल गए हैं।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top