Breaking News

जम्मू-कश्मीर के नौशेरा सेक्टर में PAK ने दागे मोर्टार

Jammu Kashmir, Noushara Sector, LOC, Pakistani Security Forces, Firing, India

जम्मू: एलओसी पर पाकिस्तानी सुरक्षाबलों की नापाक हरकत जारी है। इस बार जम्मू के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से बेवजह फायरिंग की गई है। शनिवार देर रात से यहां के कलसिया इलाके में पाकिस्तानी सेना मोर्टार दाग रही है। फायरिंग में झंघार इलाके में एक पिता और बेटी की मौत हो गई है। इसके अलावा 3 अन्य ग्रामीण घायल हुए हैं।

भारत की तरफ से भी इस कार्रवाई का माकूल जवाब दिया जा रहा है। पाकिस्तानी सेना छोटे हथियारों के अलावा ऑटोमैटिक गन्स और 120 मिलीमीटर मोर्टार का इस्तेमाल कर रही है। एलओसी पर तनाव को देखते हुए नौशेरा के अलावा किला दरहल और मंजाकोट में सभी स्कूलों को अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। पाकिस्तानी सेना आम तौर पर जम्मू इलाके में आतंकियों को घुसपैठ में मदद करने के लिए संघर्षविराम तोड़ती है।

तीन दिनों में तीसरी ना’पाक’ हरकत

शुक्रवार को भी पाकिस्तानी सेना ने जम्मू के अरनिया इलाके में सीजफायर तोड़ा था। सीमापार फायरिंग में बीएसएफ का जवान घायल हो गया था। इसके बाद बीएसएफ ने भी जवाबी कार्रवाई की थी। गुरूवार को पाकिस्तानी सैनिकों ने नौशेरा में ही एलओसी के पास रिहायशी इलाकों पर गोले दागे थे। इस गोलाबारी में एक महिला की मौत हुई थी और उस का पति घायल हुआ था। भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में 2 पाकिस्तानी सैनिक घायल हुए थे।

पाक ने 2015 और 2016 में रोज सीजफायर वॉयलेशन किया

गृह मंत्रालय ने बताया कि पाकिस्तान ने 2015 और 2016 में रोज सीजफायर वॉयलेशन किया। इन 2 सालों में पाक के सीजफायर वॉयलेशन में भारत के 23 जवान शहीद हुए। एक आरटीआई के जवाब में होम मिनिस्ट्री ने ये बातें कहीं। होम मिनिस्ट्री की रिपोर्ट के मुताबिक, 2012 से 2016 के दौरान जम्मू-कश्मीर में 1,142 आतंकी घटनाएं हुईं। इसमें 236 जवान शहीद हुए और 90 सिविलियन्स भी मारे गए।  “2012-16 के दौरान ही सिक्युरिटी फोर्सेस ने 507 आतंकियों को मार गिराया।”  गृह मंत्रालय ने अपने जवाब में कहा, “पाकिस्तान ने 2016 में लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर 449 और 2015 में 405 बार सीजफायर वॉयलेशन किया।”

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top