[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
मना॓रंजन

रूहानियत के रंग में रंगे 70 लाख लोग, सजी महफिल

Dera Sacha Sauda, Religious Congregation, Gurmeet Ram Rahim, MSG9Br9

सरसा (आनंद भार्गव)। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां के 50वें गोल्डन जुबली बर्थ डे पर आयोजित ‘एमएसजी भंडारे’ की तीसरी रात सुरों की महफिल सजी। इस महफिल में देश के अनेक प्रख्यात कलाकारों ने अपनी आवाज का जादू बिखेरा। रूहानियत के रंग से सराबोर यह महफिल प्रात: 3 बजे तक चली तथा देश भर से पहुंचे 70 लाख से अधिक लोगों ने नाच नाचकर सतगुरु जी के अवतार भंडारे की खुशियां मनाई।
समारोह में हरियाणवी कलाकार अमित ढुल, वॉयस आॅफ इंडिया की रनरअप पूजा इन्सां, पंजाबी कलाकार बलबीर चोटिया, सूफी गायिकाएं नूरां सिस्टर्स, प्रगट भागू ने अपनी अपनी बुलंद आवाज व अंदाज में एक के बाद एक शानदार प्रस्तुति दी। तत्पश्चात पूज्य गुरुजी ने अपनी मधुरवाणी में भजनों पर आधारित मैशअप सुनाया, जिस पर पंडाल में उपस्थित जनसमूह झूम उठा।

  • एमएसजी भंडारा : गै्रंड इवेंट्स की तीसरी नाईट
  • रूहानी संगीत के माध्यम से कलाकारों ने बांधा समां
  • तीसरे दिन 5800 लोगों ने लिया गुरुमंत्र
  • लाखों लोगों के बीच से डॉ. एमएसजी ने साउंडलैस उड़न खटोले पर की धमाकेदार एंट्री
  • प्रात: 3 बजे तक चला समारोह,रूहानी संगीत पर रातभर थिरके लाखों श्रद्धालु मनाई मुर्शिद के अवतार दिवस की खुशियां

‘उड़न खटोले’ पर एंट्री

‘एमएसजी नौ बर नौ गै्रंड इवेंट्स’ की तीसरी रात डॉ. एमएसजी ने शानदार एंट्री की। वे लाखों लोगों के बीच में से स्वयं द्वारा ईजाद की गई ओपन बॉडी आकर्षक तिपहिया गाड़ी में सवार होकर आए, जिन्हें देखकर हर कोई झूम उठा। मंच पर पहुंचे डॉ. एमएसजी ने गाड़ी से हैरत अंगेज कट भी लगाए, जिन्हेें हर कोई देखता ही रह गया। पूज्य गुरुजी ने नए वाहन के बारे में फरमाया कि पुरातन काल में आसमान में उड़ने वाले साउंडलैस उड़न खटोले होते थे, यह धरती पर बिना आवाज चलने वाला उड़न खटोला है।



सिर चढ़ बोला डॉ. एमएसजी की गायिकी का जादू

सेलिब्रेशन के दौरान डॉ. एमएसजी की गायिकी का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोला। लाखों लोगों की मांग पर पूज्य गुरुजी ने बिना साज के ही जब ‘माहिया’, ‘अक्खां नाल गल्लां कर दे ओ सोनयो’, ‘मैं सजू रे सजू राम लिए रोजाना’ इत्यादि भजन सुनाए तो लाखों लोगों ने भी एक साथ सुर में सुर मिलाया।

‘पापा द ग्रेट मेरे पापा द ग्रेट’

वहीं पूज्य गुरुजी की छोटी साहिबजादी अमरप्रीत इन्सां ने पूज्य गुरुजी के संग ‘पापा द ग्रेट मेरे पापा द ग्रेट’ शब्द की लाईनें सुनाई। कार्यक्रम के समापन पर भी पूज्य गुरुजी ने अपनी मधुर आवाज में विभिन्न शब्दों पर आधारित मैशअप सुनाया, जिन पर श्रद्धालु झूम उठे। पूज्य गुरुजी ने ‘केसरिया म्हारा केसरिया’, ‘मैं तेरे पे मर गया’, ‘शाह सतनाम जी हो गया है मेरा’, ‘बल्ले बल्ले जी हो गी बल्ले बल्ले बल्ले’ इत्यादि भजनों पर श्रद्धालु प्रात: 3 बजे तक थिरकते रहे।

मुझे प्राउड है कि मैं मल्टी टेलेंटिड, सर्वकला संपूर्ण पापा की बेटी हूं और चाहती हूं कि मेरी प्रतिभा में भी उनका कुछ अंश आए। सब कुछ पापा जी से ही सीखा है। एमएसजी 1 में कैमरे के पीछे रहती थी तथा एमएसजी 2 में पापा जी ने डायरेक्शन सिखाना शुरू किया और तीसरी फिल्म के लिए पापा कहते तुम्हे डायरेक्शन करना है। मेरी झिझक को देख पापा जी कहते हम हैं ना, आपको हर स्टैप पर गाइड करेंगे। और उसके बाद फिल्म बनी, जो आप सब को बहुत पसंद आई। पापा जी के फुट स्टैप्स को फोलो करूं यही पूरी लाईफ का ऐम है।
-हन्नीप्रीत इन्सां

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top