देश

कथावाचक आसाराम का वीडियो तोड़-मरोड़कर दिखाने पर तीन टीवी चैनलों को नोटिस

Asaram

आसाराम (Asaram) के आशीर्वाद के वीडियो को एडिट कर अश्लीलता के साथ किया था प्रसारित

गुरुग्राम(सच कहूँ न्यूज)। कथावाचक आसाराम (Asaram) द्वारा गुरुग्राम के एक परिवार को दिए गए आशीर्वाद की वीडियो को टीवी चैनलों द्वारा एडिट करके अश्लीलता के साथ दिखाए जाने को लेकर तीन चैनलों को नोटिस जारी हुए हैं।

जिला चाईल्ड वेलफेयर कमेटी के समक्ष 10 अगस्त को रखना होगा अपना पक्ष

जिला चाईल्ड वेलफेयर कमेटी की चेयरपर्सन ने वर्ष 2015 में पालम विहार पुलिस थाना में दर्ज पॉस्को एक्ट मामले में सुनवाई के लिए ये नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में कहा गया है कि वे इस मामले में आगामी 10 अगस्त को कमेटी के समक्ष उपस्थित होकर अपना पक्ष रखें, ताकि सामाजिक संस्था जनजागरण मंच द्वारा दी गई शिकायत का निपटारा किया जा सके। संस्था के उपाध्यक्ष हरि शंकर कुमार के मुताबिक दो जुलाई 2013 को पालम विहार क्षेत्र के सतीश कुमार (काल्पनिक नाम) के घर कथावाचक आसाराम (Asaram) बापू आए थे। बापू आसाराम (Asaram) ने परिवार के सदस्यों सहित उनकी 10 वर्षीय भतीजी को आशीर्वाद भी दिया था। उस समय सतीश के घर के कार्यक्रम की वीडियो तीन टीवी चैनलों ने बनाई थी। उस वीडियो को एडिट करके अश्लील व अभद्र तरीके से प्रसारित किया गया था, जिससे परिवार व मासूम बालिका को मानसिक व सामाजिक रुप से कष्ट झेलना पड़ा था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुई थी एफआईआर

इस बात से आहत होकर परिजनों ने पालम विहार थाने में शिकायत दर्ज कराई थी, जिस पर पुलिस थाना ने जीरो एफआईआर दर्ज कर नोएडा पुलिस को भेजकर अपना पल्ला झाड़ लिया। पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की थी। इस मामले में पीड़ितों ने सर्वोच्च न्यायालय में गुहार लगाई थी। जिस पर 19 मार्च 2015 को एफआईआर दर्ज की गई। केस दर्ज होने के बाद भी पुलिस ने जांच में यह कहकर मामले को खत्म करने का प्रयास किया कि कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं, जिसके आधार पर केस दर्ज किया जा सके।

अब चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ने की कार्रवाई

संस्था ने पंचकूला स्थित हरियाणा स्टेट कमीशन फॉर प्रोटेक्शन आॅफ चाईल्ड राईट्स के चेयरपर्सन को भी गत माह शिकायत की थी, जिस पर चेयरपर्सन ने उपायुक्त गुरुग्राम से कार्रवाई करने का आग्रह किया था। संस्था ने गत माह चाईल्ड वेलफेयर कमेटी को भी पत्र लिखकर कार्यवाही करने की मांग की थी, जिस पर कमेटी ने टीवी चैनलों को नोटिस देकर अपना पक्ष रखने को कहा है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें

 

 

लोकप्रिय न्यूज़

To Top