Breaking News

चीन बॉर्डर पर तैनात होंगी नई तोपें

Guns, Stationed, China Border, Modernization, Settlement

145 M 777 तोपें इस हफ्ते सेना में हो जाएंगी शामिल

नई दिल्ली: बोफोर्स स्कैंडल (1980-90 के दौरान) के बाद 30 साल तक तोपखाने को मॉडर्नाइजेशन से दूर रखने के बाद इंडियन आर्मी अब अपनी पहली भारी तोप लेने को तैयार है। 145 M 777 तोपें इस हफ्ते सेना में शामिल हो जाएंगी। पहले खेप में 2 तोपें भारत आ गई हैं, जिनका राजस्थान के पोकरण स्थित फायरिंग रेंज में टेस्ट किया जाएगा। ये तोप चीन बॉर्डर पर तैनात की जाएंगी।

अमेरिका के साथ किया गया था समझौता

पिछले साल 30 नवंबर को भारत ने इन तोपों को खरीदने के लिए अमेरिका के साथ समझौता किया गया था। 17 नवंबर को केंद्रीय कैबिनेट ने इस समझौते को मंजूरी दी थी। इन तोपों के इंडियन आर्मी में शामिल होने के बाद से उसकी ताकत बढ़ जाएगी।

बोफोर्स तोप गेम चेंजर हुई थी साबित

करगिल की लड़ाई में बोफोर्स तोप गेम चेंजर साबित हुई थी। यह 24 km दूर तक बम बरसा सकती थी। इस कैपेसिटी को बाद में अपग्रेड कर 27 km किया गया था। करगिल में काउंटर अटैक में इसका अहम रोल था।

बोफोर्स में 68 हार्सपॉवर के दो इंजन होते हैं। फ्यूल कैपिसिटी 22 लीटर है। इस तोप की सबसे बड़ी खासियत एंगल टू एंगल टारगेट पर अचूक निशाना लगाना है। इससे रात में भी टारगेट डेस्ट्रॉय किया जा सकता है। पहाड़ों में दुश्मन से लड़ने के लिए ये बेहतरीन हथियार है।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top