Breaking News

विधायक ने विकास और विपक्ष ने गिनाई समस्याएं

रघबीर सिंह की खास रिपोर्ट: –
एक नजर…
2012 के चुनावों के समय कुल वोट 149566
पुरुषों के 81790 वोट
महिलाओं के 67176 वोट
1977 से 2002 तक हलके का नंबर 59 रहा,
2007 में हलका नंबर 58 और 2012 में हलका नंबर 60 बना
1977, 1980 और 1985 में कांग्रेस के ओम प्रकाश गुप्ता रहे विजेता
1992 और 1997 में भाजपा के सतपाल गोसांयी रहे आगे
2002 में कांग्रेस के सुरिन्दर डाबर को मिली जीत
2007 में भाजपा के सतपाल गोसांयी रहे विजेता
2012 में अकाली दल के रणजीत सिंह ढिल्लों ने की जीत हासिल

Ludhiana: पंजाब का विधान सभा हलका नंबर -60 हलका पूर्वी के तौर पर जाना जाता है। इस हलके से मौजूदा समय में अकाली दल के रणजीत सिंह ढिल्लों विधायक हैं। 2012 के विधान सभा चुनावों में रणजीत सिंह ढिल्लों ने 38157 वोटहासिल करके कांग्रेस के गुरमेल सिंह पहलवान को 4571 वोटों के अंतर से हराया था जिन्हें 33586 वोट मिले थे। चाहे कि अकाली विधायक ने अपने कार्यकाल दौरान 300 करोड़ रुपए खर्च कर अहम कार्य करने का दावा किया है परन्तु लोग बुनियादी सुविधाओं की कमी के कारण मुश्किलों से दो चार हो रहे हैं । हलके में सीवरेज की समस्या सबसे मुख्य समस्या है जिस कारण लोगों को कई मुश्किलों का सामना करने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है और हलका विधायक भी मानते हैं कि वह पूरे कार्य नहीं कर सके और कई ऐसीं समस्याएं हैं जो चुभ रही हैं।

इन विकास कार्यों पर खर्च किए 300 करोड़ रूप :::

अनाधिकृत कॉलोनियों को रेगुलर करवा कर पानी, सीवरेज, बिजली, सड़कें, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की। 25 करोड़ रुपए खर्च करके हलके की मुख्य सड़कें राहों रोड, ताजपुर रोड बनाईं। हलके में सारा बिजली तंत्र खंबे, ट्रांसफार्मर, मीटर और तारें बदलने पर 60 करोड़ रु पए खर्च किए गए। आरती स्टील रोड बनाने के लिए 5 करोड़ खर्च किए गए। 9 करोड़ खर्च करके टिब्बा रोड की 9 सड़कें बनाई। 23 करोड़ रुपए नूरवाला रोड, भामियां रोड, गलाडा रोड, काकोवाल रोड सहित अन्य सड़कें बनाने पर खर्च किए गए। हलके में पानी के प्रोजैक्ट पर 22.32 करोड़ खर्च करके लोगों को पीने वाले पानी की सुविधा प्रदान की। सीवरेज प्रोजेक्ट पर 28 करोड़ रुपए खर्च कर पानी की निकासी का प्रबंध किया।
सुभाष नगर में अस्पताल बनाने पर 5 करोड़, 32 सेक्टर में अस्पताल बनाने पर 5 करोड़ खर्च किए गए। प्राथमिक स्कूल पर पहले 2 करोड़ और अब एक करोड़ और खर्च किया जा रहा है। एक और स्कूल की इमारत बनाने पर 5करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। हलके में कम्यूनिटी सैंटर पर साढ़े 5करोड़ खर्च किए गए। गुरदेव भवन को 64 लाख, विश्वकर्मा भवन को 59 लाख, शिव दुर्गा धर्मशाला को 38 लाख, बस्ती जोधेवाल धर्मशाला को 11 लाख और रविदास धर्मशाला को 22 लाख रुपए अनुदान सहित आरओ सिस्टम और धार्मिक स्थानों को ग्रांट सहित अन्य ग्रांट दीं गई।

हलके में अधूरे विकास कार्य:
हलका पूर्वी से विधायक रणजीत सिंह ढिल्लों ने माना कि हलके में कुछ कार्य होने से रह गए हैं। अब अगर मौका मिला तो लड़कियों के लिए सरकारी कॉलेज, रोजगारपरक कालेज, बाकी इलाकों में पानी और गलियों, सीवरेज के काम करवाने की चाहत है। इसके अलावा मुख्य काम जीटी रोड बनने से हलका पूर्वी को शहर के साथ जोड़ने वाले 30 कटों को कम कर 7 कर दिया गया है जिससे हलका शहर से कट गया है। हलके को शहर के साथ जोड़ने के लिए कोई योजनाबंदी बनानी जरूरी है।

daljeet singhविकास उद्घाटनों तक ही सीमित:दलजीत सिंह
आप के उम्मीदवार दलजीत सिंह भोला ने कहा कि हलके में सरकारी डिस्पैंसरियों की कमी के कारण लोगों को प्राईवेट डाक्टरों की लूट का शिकार होना पड़ता है। वाटर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता कम होने के कारण सीवरेज की समस्या आम ही बनी रहती है। डिस्पोजल की मुरम्मत और रख रखाव सही ढंग से न होने के कारण आए दिन प्लांट की मोटर के खराब हो जाने की शिकायतें हैं। वेस्ट प्लांट न होने के कारण कूड़े के डम्पों से लोग परेशान हैं। हलके में ट्यूबवैलों की कमी के कारण लोग पीने वाले पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। सौ के करीब कॉलोनियां और बस्तियां होने के बावजूद कोई बैंक की शाखा नहीं है। सरकारी स्कूलों में इमारतें और बुनियादी ढांचे की कमी है और नौजवानों के लिए हलके में कोई खेल स्टेडियम नहीं। पुस्तकालय और कम्युनिटी सैंटरों की कमी लोगों को चुभ रही है। विकास केवल उद्घाटनों तक ही सीमित है।

ranjit95 प्रतिशत सुविधाएं मुहैया करवाई: रणजीत सिंह
विधान सभा हलका पूर्वी से मौजूदा विधायक रणजीत सिंह ढिल्लों ने कहा कि उनको हलका पूर्वी बुनियादी सुविधाओं से खाली विरासत में मिला। हलका पूर्वी लुधियाना के आऊटर पर होने के कारण इसमें कोई भी बुनियादी सुविधा नहीं थी। उन्होंने 5साल के कार्यकाल में 300 करोड़ रुपए खर्च करके 95 प्रतिशत इलाके में बुनियादी सुविधाएं मुहैया करवाई हैं। परंतु समय थोड़ा होने के कारण कुछ काम होने से रह भी गए हैं।


बुनिGurmel singhयादी सुविधाएं नहीं पहुंची :गुरमेल सिंह

कांग्रेस पार्टी के गुरमेल सिंह पहलवान ने कहा कि कुछ इलाकों में पीने वाला पानी, सीवरेज व अन्य बुनियादी सुविधाएं नहीं पहुंची। गंदे नाले की सफाई नहीं हो रही जिस कारण बरसातों के दिनों में नाले का पानी ओवरफ्लो हो कर सड़कों-गलियों में जमा हो जाता है। इलाके में पिछले समय में सीवरेज मिला पानी आने से बच्चों की मौतें भी हुई हैं। कई स्थान पर सड़कों की हालत खस्ता होने के कारण लोग परेशान हैं। सत्ताधारी अकाली दल ने गुंडे पाल रखे हैं जो विरोध करने पर कांग्रेसियों के साथ गुंडागर्दी करते हैं और कांग्रेसी वर्करों पर झूठे मामले दर्ज करवा देते हैं।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top