Breaking News

एमसीडी चुनाव 22 अप्रैल को

MCD Election in Delhi, Kejriwal, Congress, BJP, Manoj Tiwari, EVM

MCD Election in Delhi | ईवीएम से होगी वोटिंग

नई दिल्ली (एजेंसी)। (MCD Election in Delhi) दिल्ली के तीनों नगर निगमों के चुनाव 22 अप्रैल को होंगे। वोटिंग सुबह 8 बजे से शाम साढ़े 5 बजे तक होगी। 27 मार्च से नामांकन शुरू हो जाएंगे। नामांकन की आखिरी तारीख 3 अप्रैल है। 25 अप्रैल को वोटों की गिनती की जाएगी। राज्य चुनाव आयोग ने साथ में यह भी स्पष्ट किया है कि वोटिंग ईवीएम के जरिए ही होगी।

केजरीवाल ने वोटिंग बैलट पेपर से कराने की मांग की थी

राज्य निर्वाचन आयुक्त एस.के. श्रीवास्तव ने कहा कि ईवीएम के जरिये ही वोट डाले जाएंगे। दरअसल दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आयोग को खत लिखकर एमसीडी के चुनाव ईवीएम के बजाय बैलट पेपर से कराने की मांग की थी। तारीखों के ऐलान के साथ ही दिल्ली में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है।

MCD Election in Delhi | 25 अप्रैल को नतीजे

अभी दिल्ली के तीनों नगर निगमों एनडीएमसी, एसडीएमसी और ईडीएमसी में भाजपा का शासन है। एनडीएमसी और एसडीएमसी में पार्षदों की 104-104 सीटें हैं जबकि ईडीएमसी में पार्षदों की 64 सीटें हैं। तीनों नगर निगमों में महिलाओं के लिए 50 प्रतिशत सीटें आरक्षित हैं।

एनडीएमसी में 10 सीटें सिर्फ एससी महिलाओं, 42 सीटें महिलाओं और 10 सीटें एससी के लिए आरक्षित रखी गई हैं। एसडीएमसी में 8 सीटें सिर्फ एससी महिलाओं, 45 सीटें महिलाओं और 7 सीटें एससी के लिए आरक्षित की गई हैं। इसी तरह ईडीएमसी में 6 सीटें सिर्फ एससी महिलाओं, 27 सीटें महिलाओं और 5 सीटें एससी वर्ग के लिए आरक्षित रखी गई हैं।

कुल 5,170 पोलिंग स्टेशन

एनडीएमसी चुनाव के लिए कुल 5,170 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। इसी तरह एसडीएमसी चुनाव के लिए 5,074 और ईडीएमसी चुनाव के लिए कुल 2,990 पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं।

एमसीडी चुनावों में मुख्य तौर पर भाजपा और कांग्रेस में मुकाबला होता आया है लेकिन इस बार अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के चुनाव मैदान में आने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। वहीं आप से अलग हुए योगेंद्र यादव की पार्टी स्वराज इंडिया ने भी एमसीडी चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। इनके अलावा बसपा और जेडीयू भी चुनाव मैदान में होंगी।

MCD Election in Delhi | सभी नए चेहरे उतारेगी भाजपा

आगामी नगर निगम चुनावों में नई जान फूंकने के लिए दिल्ली भाजपा ने अपने सभी वर्तमान पार्षदों को उम्मीदवार नहीं बनाने का फैसला किया है। दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में यह घोषणा की।

उन्होंने कहा, ‘हमने आम-सहमति से निगम चुनावों में नए चेहरे उतारने का फैसला किया है। पार्षदों और पार्टी नेताओं के परिजनों को भी टिकट नहीं दिए जाएंगे।’

युवा शक्ति से संचालित ‘न्यू इंडिया’ की सोच को मूर्त रूप देने की दिशा में एक कदम है

साल 2007 से दिल्ली के नगर निगमों पर नियंत्रण रखने वाली भाजपा जुए की तरह यह दांव खेल रही है। वह नहीं चाहती कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस मौजूदा पार्षदों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगा पाएं। तिवारी ने कहा कि यह फैसला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की युवा शक्ति से संचालित ‘न्यू इंडिया’ की सोच को मूर्त रूप देने की दिशा में एक कदम है। संवाददाता सम्मेलन में दिल्ली से भाजपा के सांसद हर्षवर्धन, महेश गिरि, प्रवेश वर्मा और उदित राज मौजूद थे, जिसे पार्टी में इस फैसले को लेकर एकता प्रदर्शित करने के रूप में देखा जा रहा है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top