हरियाणा

किसानों के लिए बनेंगे 340 स्पेशल कलस्टर

Special Cluster, Farmers, Sell, Gardening Crops

 आसानी से बेच सकेंगे मशरूम, टमाटर, किन्नू, शहद व बागवानी फसलें

हर कलस्टर पर आएगी 50 लाख से दो करोड़ रुपये तक की लागत

चंडीगढ़(सच कहूँ न्यूज)। प्रदेश सरकार कृषि को फायदे का सौदा बनाने के लिए प्रदेश में किसानों के लिए 340 विशेष क्लस्टर स्थापित करने जा रही है। 50 लाख से दो करोड़ रुपये तक की लागत से बनने वाले इन क्लस्टरों के गठन का कार्य शुरू कर दिया गया है और इस साल के अंत तक पायलेट प्रोजेक्ट शुरू कर दिए जाएंगे। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अभिलक्ष लिखी बुधवार को हैक कृषि अनुसंधान संस्थान, मुरथल का दौरा करने के बाद किसानों से बातचीत कर रहे थे।

साल के अंत तक शुरू होंगे पायलेट प्रोजेक्ट

लिखी ने कहा कि प्रदेश में स्थापित किए जा रहे इन क्लस्टरों को उन स्थानों पर स्थापित किया जाएगा जहां पर संबंधित फसल को लेकर किसानों का अधिक रूझान और संभावनाएं हैं। इनमें मशरूम, टमाटर, किन्नू, शहद, बागवानी सहित सभी तरह की फसलों को शामिल किया गया है। इन क्लस्टरों में आने वाले किसानों को बैंकों से लोन सहित उनकी फसल के लिए खरीद केंद्र, प्रोसेसिंग यूनिट सहित सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस अवसर पर हैक कृषि अनुसंधान केंद्र का दौरा करते हुए उन्होंने सबसे पहले मशरूम बीज उत्पादन लैब का निरीक्षण किया और इसके बाद उन्होंने केंद्र में जाकर उगाई गई मशरूम व किसानों को दी जाने वाली सुविधाओं की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि इस हैक कृषि अनुसंधान केंद्र प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में मशरूम उत्पादन व अनुसंधान के लिए बेहतरीन कार्य कर रहा है।

मशरूम उत्पादन में सोनीपत देशभर में पहले नंबर पर

प्रधान सचिव ने बताया कि फिलहाल हरियाणा में दो हजार से अधिक किसान मशरूम की खेती से जुड़े हुए हैं और अकेले सोनीपत में 700 से ज्यादा किसान मशरूम की बड़े स्तर पर खेती कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोनीपत जिला पूरे देश में मशरूम के उत्पादन में पहले स्थान पर है। इस दौरान उन्होंने मौजूद किसानों से समस्याएं भी पूछी और उनके समाधान के लिए भी कहा। किसानों से आह्वान किया कि वह मशरूम व शहद उत्पादन जैसे कार्यों से खेती को फायदे का सौदा बना सकते हैं। इस दौरान किसानों द्वारा मशरूम की प्रोसेसिंग यूनिट की मांग पर उन्होंने कहा कि इस दिशा में जल्द कार्य किया जाएगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top