खेल

आखिरी उम्मीद के लिए खेलेगा आस्ट्रेलिया

Last Chance, Australia, Play, Cricket, ICC, Champions Trophy

पिछले दोनों मैच न्यूजीलैंड और बांग्लादेश से हुए बारिश के कारण रद्द

बर्मिंघम (एजेंसी)। आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में भाग्य से जूझ रही आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम अपने पिछले दोनों मैच इंद्र देवता से हारने के बाद वह सबसे पहले क्वालीफाई कर चुकी मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार को ग्रुप ए के मुकाबले में अपनी आखिरी उम्मीद के लिए खेलने उतरेगी। इयोन मोर्गन की कप्तानी वाली इंग्लिश टीम ने अपने घरेलू जमीन पर कमाल का खेल दिखाते हुए पिछले दोनों मैच जीते हैं और सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई कर चुकी है। लेकिन ग्रुप की दूसरी सबसे मजबूत टीम आस्ट्रेलिया की स्थिति काफी विकट है और उसके पिछले दोनों मैच न्यूजीलैंड और बांग्लादेश से बारिश के कारण रद्द हो गए हैं।

ग्रुप में वह रद्द मैचों से मिले दो अंक लेकर हालांकि अभी भी दूसरे स्थान पर है लेकिन तीसरे और चौथे नंबर की बांग्लादेश तथा न्यूजीलैंड की टीमों के पास एक-एक अंक हैं और उनके पास भी अभी एक-एक मौका बचा हुआ है जिसमें वह समीकरण बदल सकती हैं। हालांकि कंगारुओं के जीतने पर वह सेमीफाइनल में जगह बना लेगी और ऐसे में इंग्लैंड के खिलाफ उसे करो या मरो के मैच में उतरना होगा। इंग्लैंड ने अपने पहले दोनों मैच बांग्लादेश से आठ विकेट से और न्यूजीलैंड से 87 रन के अंतर से जीते हैं और घरेलू मैदान पर टीम कमाल की फार्म में हैं। उसकी पूरी कोशिश रहेगी कि वह चिर प्रतिद्वंद्वी आस्ट्रेलिया को जीतने का कोई मौका न दे। मेजबान टीम ने पिछले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 300 के पार स्कोर बनाया और उसका बचाव भी किया था।

आस्ट्रेलिया पहले दोनों मैचों में परिणाम नहीं निकलने से चिंतित

मोर्गन के अलावा जेसन रॉय, एलेक्स हेल्स, जो रुट, बेन स्टोक्स और जोस बटलर बढ़िया बल्लेबाज हैं। इंग्लैंड के तीन बल्लेबाजों ने कीवी टीम के खिलाफ पिछले मैच में तीन अर्धशतक जड़े थे तो वहीं गेंदबाजों में लियाम प्लेंकेट 55 रन पर चार विकेट लेकर सबसे सफल रहे थे। टीम के पास जैक बॉल, मार्क वुड, आदिल राशिद और स्टोक्स जैसे बेहतरीन गेंदबाज मौजूद हैं और आस्ट्रेलिया के खिलाफ भी ये अह्म रहेंगे। आस्ट्रेलिया पहले ही दोनों मैचों में परिणाम नहीं निकलने से चिंतित है और मजबूत इंग्लैंड के खिलाफ उस पर मनोवैज्ञानिक दबाव भी होगा।

कीवी टीम के खिलाफ रद्द रहे मैच में जोश हेजलवुड ने 52 रन पर छह विकेट निकालकर कमाल की गेंदबाजी की थी तो बांग्लादेश के खिलाफ मिशेल स्टार्क चार विकेट के साथ सफल रहे थे। इसके अलावा पैट कमिंस, ट्रेविस हैड, एडम जम्पा और मोएसिस हैनरिक्स के रुप में उसके पास जबरदस्त गेंदबाजी क्रम है। वहीं बल्लेबाजों में डेविड वार्नर, आरोन फिंच, कप्तान स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल उसके अहम स्कोरर हैं और निश्चित ही करो या मरो के मैच में इंग्लैंड के खिलाफ असल परीक्षा के लिए तैयार होंगे क्योंकि उसके बल्लेबाजों को पिछले दोनों ही मैचों में कुछ करने का मौका नहीं मिल सका है।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top