दिल्ली एनसीआर

साल में दो बार होगा नीट, जेईई का एग्जाम

JEE Exam

जेईई मेन्स नेशनल एजेंसी कराएगी /JEE Exam

5 प्रवेश परीक्षाएं अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी कराएगी

सभी परीक्षाएं कम्प्यूटर बेस्ड होंगी इसके लिए अधिकृत सेंटरों पर प्रैक्टिस कर सकेंगे

(JEE Exam)

नई दिल्ली (एजेंसी)। सरकार ने इंजीनियरिंग (JEE Exam) तथा डॉक्टरी की पढ़ाई के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) तथा राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट) को साल में दो बार आयोजित करने का फैसला किया है।मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि जेईई (मेन), नीट, एनईटी आदि परीक्षाएं 2019 से एक साल में दो बार आयोजित की जाएंगी। जेईई मेन परीक्षा का आयोजन जनवरी तथा अप्रैल में किया जाएगा जबकि नीट का आयोजन फरवरी तथा मई में होगा। उन्होंने कहा कि ये परीक्षाएं हाल ही में गठित नेशनल टेस्टिंग एजेंसी(एनटीए) द्वारा आयोजित की जाएंगी।

एनटीए ने इस दिशा में अपना काम शुरू किया /JEE Exam

अभी इनका आयोजन केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(सीबीएसई) कर रहा है। उन्होंने कहा कि एनटीए ने इस दिशा में अपना कार्य शुरू कर दिया है। जेईई मेन, नीट, यूजीसी-नेट, संयुक्त प्रबंधन प्रवेश परीक्षा(सीएमएटी) तथा ग्रेजुएट फामेर्सी एप्टीट्यूट टेस्ट परीक्षा वही आयोजित करेगी। इसकी विशेषता होगी कि अगले सत्र से ये परीक्षाएं साल में दो बार आयोजित की जाएंगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे छात्रों का एक साल खराब नहीं होगा। वे परीक्षा में एक साल में दोनों बार बैठ सकेंगे और प्रवेश के लिए दोनों में से ज्यादा अंकों को देखा जाएगा।

सीमैट और जीपैट /JEE Exam

जावड़ेकर ने बताया कि कॉमन मैनेजमेंट एडमिशन टेस्ट (सीमैट) और ग्रेजुएट फामेर्सी एप्टिट्यूड टेस्ट (जीपैट) भी अब नेशनल टेस्टिंग एजेंसी कराएगी। जावड़ेकर ने भरोसा दिलाया कि परीक्षाओं का कम्प्यूटर आधारित फॉर्मेट होने से नकल पर रोक लगेगी। पेपर लीक की आशंका भी खत्म हो जाएगी। एसएससी परीक्षा में स्क्रीन शेयरिंग से पेपर लीक होने वाले सवाल का जवाब देते हुए जावड़ेकर ने किहा कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के मॉड्यूल में ऐसा नहीं हो सकेगा।

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

JEE Exam

लोकप्रिय न्यूज़

To Top

FIFA 2018 World Cup