[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
खेल

सम्मान की जंग लड़ेंगे भारत और पाकिस्तान

India, Pakistan, Fight, ICC Champion Trophy, Cricket

पाकिस्तान का यह पहला फाइनल

लंदन (एजेंसी)। क्रिकेट इतिहास के दो सबसे प्रबल प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान रविवार को जब आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के महा खिताबी मुकाबले में उतरेंगे तब ना केवल दोनों टीमों के बीच सम्मान की जंग होगी बल्कि दोनों देशों के लोगों के बीच भावनाओं की सुनामी उठ जाएगी। चैंपियंस ट्रॉफी शुरु होने के समय किसी ने भी यह कल्पना नहीं की थी कि भारत और पाकिस्तान फाइनल में आमने-सामने होंगे। दोनों देशों का ग्रुप मुकाबला शुरु होने से कई महीने पहले ही हाउसफुल हो चुका था और अब तो दोनों के बीच फाइनल का रोमांच सिर चढ़कर बोलेगा। भारत चैंपियंस ट्रॉफी का गत विजेता और लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंचा है।

पाकिस्तान की टीम अपने पहले मैच में भारत से करारी शिकस्त झेलने के बाद हैरतअंगेज प्रदर्शन करते हुए फाइनल में पहुंच चुकी है। पाकिस्तान का यह पहला फाइनल है। दोनों टीमें आईसीसी टूर्नामेंटों के इतिहास में दूसरी बार फाइनल में भिड़ेंगी। इससे पहले दोनों के बीच 2007 के टी20 विश्वकप के फाइनल में मुकाबला हुआ था जहां भारत ने खिताबी जीत दर्ज की थी। भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रैंड फाइनल में दोनों देशों के करोड़ों प्रशंसकों की सांसें थमी रहेंगी और टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली तथा पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद पर तनाव की तलवार तब तक लटकती रहेगी जब तक मैच का फैसला न हो जाए।

मुकाबला करो या मरो से कम नहीं

दोनों ही टीमों के लिए यह मुकाबला करो या मरो से कम नहीं होगा क्योंकि किसी भी टीम को खिताब से कुछ कम मंजूर नहीं होगा। टीम इंडिया बांग्लादेश को एजबस्टन में नौ विकेट से हराकर और पाकिस्तान मेजबान इंग्लैंड को कार्डिफ में आठ विकेट से हराकर फाइनल में पहुंचे हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच खिताबी मुकाबला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के लिए किसी ब्लॉकबस्टर से कम नहीं है। दोनों टीमों के बीच ग्रुप मुकाबले को टीवी पर 20.1 करोड़ लोगों ने देखा था जो बीएआरसी के इतिहास में सर्वाधिक रेटिड वनडे है और फाइनल में यह रिकॉर्ड टूट सकता है।

भारत की खिताब बचाने की उम्मीदें उसके तीन शीर्ष बल्लेबाजों शिखर धवन, रोहित शर्मा और कप्तान विराट पर टिकी रहेंगी। भारत के शीर्ष क्रम की तरह पाकिस्तान का तेज गेंदबाजी आक्रमण जबरदस्त है जिसने अपने बूते पर पाकिस्तान को फाइनल में पहुंचाया है। भारतीय आक्रमण में भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी शानदार रही है। भुवनेश्वर ने छह और बुमराह ने चार विकेट लिए हैं। लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने भी चार विकेट हासिल किए हैं।

जडेजा के साथ फाइनल में आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की भी अहम भूमिका रहेगी। भारत ने पाकिस्तान से बेशक पहला मैच 124 रन के बड़े अंतर से जीत लिया था। लेकिन उसे पाकिस्तान के पलटवार से सतर्क रहना होगा। चैंपियंस ट्रॉफी को अब तक दो ही देशों भारत और आस्ट्रेलिया ने दो-दो बार जीता है। भारत के पास तीसरी बार यह ट्रॉफी जीतकर आस्ट्रेलिया से आगे निकलने का सुनहरा मौका है लेकिन पाकिस्तान पहली बार चैंपियन बनने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगा।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top