सम्पादकीय

देश में भी बढ़े देशवासियों की आय

Increased, Countrymen, Country

हाल ही में वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट आई है कि दुनिया में भारत पहला ऐसा देश है, जिसके नागरिक विदेशों में काम कर सबसे अधिक पैसा अपने देश भेजते हैं। सुनने में यह बहुत सुखद अहसास है, परंतु जो लोग भारत के लिए विदेशों में दिन-रात एक कर यह कमाई कर रहे हैं, उनमें हजारों-हजार कामगार ऐसे हैं कि उनका विदेशी धरती पर शोषण भी हो रहा है, फिर भी वह अपने देश के लिए सब कुछ सहकर कमाई करते हैं। विदेशों से भारत को अपने लोगों की कमाई का करीब 69 अरब डॉलर मिल रहा है, यह पैसा भारत के कुल रक्षा बजट का डेढ़ गुणा है और यह सब भारत के गांवों में सीधे पहुंचता है।

इसके उल्ट एक घिनौना सत्य यह भी है कि बहुत से ठग व धोखेबाज किस्म के लोग देश में भ्रष्टाचार कर, बैंक धोखाधड़ी करके देश का धन विदेशों में भेज रहे हैं। वह भी सिर्फ इसलिए कि उनकी काली कमाई छिप जाए। राजनेता, उद्योगपति, अपराधी, अफसर सब तरह के लोगों की एक अच्छी खासी गिनती है जो यह अपराध कर रही है। यहां दु:खद बात यह भी है कि भारत सरकार आज तक यह पता नहीं लगा पाई कि हवाला, भ्रष्टाचार से कुल कितना पैसा है जो देश से बाहर भेजा जा चुका है।

ऐसी परिस्थितियों में विदेशों में कमाई कर रहे भारतीय भी भारतीय सेना जैसे गर्व का एहसास करवाते हैं। यहां दो प्रश्न भी उठते हैं कि भारत में ऐसा माहौल कब बनेगा कि किसी भारतीय को कमाने के लिए अपना देश नहीं छोड़ना पड़े? फिर कब तक देश में बैठे ठग देश को लूट कर विदेशी बैंकों को भरते रहेंगे? आज देश में भ्रष्ट जीवन शैली वाले लोग मजे में जी रहे हैं और जो ईमानदारी से कमाना चाहता है उसका जीना मंहगाई, कर्ज, बेरोजगारी ने दूभर कर रखा है।

भारी गिनती में इस लोकसभा में बैठी भाजपा जो सरकार चला रही है उसने वादा किया था कि वह देश का काला धन देश में वापिस लाएगी और हर भारतीय के हिस्से करीब पन्द्रह लाख रूपये आएंगे परंतु ये सरकार भी विफल हो गई। बाहर से काला धन तो क्या वापिस लाना था उल्टे देश के कई बैकों का एक नंबर का पैसा भी बाहर चला गया। सरकार को मजबूत इच्छा शक्ति से भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना होगा, साथ ही देश में आर्थिक नीतियां इस तरह की बनें कि आम भारतीय की आमदन उसके खर्च से अधिक हो, तब विदेशों में काम कर रहे भारतीयों की आय से देश व देशवासियों दोनों की खुशहाली बढेÞगी, जो कि अब भी दूर की कौड़ी बनी हुई है।

 

 

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top