Breaking News

मुझसे बहस करनी है तो सीएम आएं: गहलोत

  • कटारिया के सामने हमने भेजा उनके कद का नेता

Jaipur, SachKahoon News: गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया और कांग्रेस उपाध्यक्ष डॉ. अर्चना शर्मा के बीच चल रही बहस की राजनीति में नया भूचाल आ गया है। अब इस बहस के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी कूद गए हैं। उन्होंने कटारिया के बयान पर कहा है कि यदि मुझसे बहस करनी है तो खुद सीएम वसुंधरा राजे सामने आएं। कटारिया के सामने तो कांग्रेस ने उनके कद की नेता को ही भेजा था। गहलोत शुक्रवार को जैसलमेर में थे। पत्रकारों से सवाल के जवाब में उन्होंने यह बात कही। उन्होंने कहा कि कटारिया मुझे बहस के लिए आमंत्रित कर रहे हैं। मैं कहना चाहता हूं कि वे तो राहुल गांधी को भी बहस के लिए आमंत्रित करेंगे तो क्या वे जाएंगे। कांग्रेस ने कटारिया के सामने उनके कद की नेता को भेजा था, बहस करनी है तो उनसे करनी चाहिए, सब कुछ सामने आ जाएगा। असल में कटारिया बार-बार सभाओं में कहते रहे हैं कि राज्य में कानून व्यवस्था बेहतर है। सुधरी है और विकास भी हुआ है। इस पर उन्होंने कई बार कांग्रेस को चुनौती दी है कि चाहे तो इस पर कांग्रेस उनसे बहस कर सकती है। इस बार कटारिया के कहने पर कांग्रेस की ओर से अधिकृत डॉ. अर्चना शर्मा, जो पार्टी में प्रदेश उपाध्यक्ष हैं और मीडिया सेंटर की चेयरपर्सन हैं, ने चुनौती को स्वीकार कर लिया। उन्होंने कटारिया को फोन पर, मीडिया के जरिए और एसएमएस के जरिए सूचना दे दी कि वे आपकी चुनौती को स्वीकार करते हुए 27 दिसंबर को प्रेस क्लब में उपस्थित रहेंगी। कटारिया इस स्वीकारोक्ति पर बैकफुट में आ गए और वे वहां नहीं गए। इसके बाद भाजपा के कई नेताओं ने बहस को लेकर बयानबाजी की।

मैं कहना चाहता हूं कि वे तो राहुल गांधी को भी बहस के लिए आमंत्रित करेंगे तो क्या वे जाएंगे। कांग्रेस ने कटारिया के सामने उनके कद की नेता को भेजा था, बहस करनी है तो उनसे करनी चाहिए, सब कुछ सामने आ जाएगा।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top