राजस्थान

पत्नी की हत्या कर पति फरार

Absconding, Crime, Devipura Kothi, FSL, Team

सीकर (सच कहूँ न्यूज)। शहर के देवीपुरा कोठी क्षेत्र में पत्नी की हत्या के बाद पति घर में ताला लगाकर चला गया। वारदात का खुलासा तब हुआ जब महिला की मां उससे मिलने आई थी। सूचना पर पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना किया। एफएसएल टीम ने भी मौके से सबूत जुटाए। आरोपी पति का अभी तक पुलिस कोई पता नहीं लगा है।

पुलिस उसकी लगातार तलाश कर रही है। वारदात की शिकार चंदादेवी गोस्वामी (28) का ससुराल दूधवा व पीहर खिरोड़ गांव है। चंदादेवी व उसका पति शिव कुमार यहां देवीपुरा कोठी क्षेत्र में किराए के मकान में रहते थे। शिव कुमार पिकअप में गैस सिलेंडर सप्लाई का कार्य करता है। शिव कुमार की सांस मंजू देवी पड़ोस के एक युवक को साथ लेकर बेटी से मिलने आई तो मकान में ताला लगा मिला।

मोबाइल भी बंद होने के कारण मंजू देवी के साथ आए युवक ने पास ही बने बाथरूम पर चढ़कर कमरे में झांका तो खून से सना चंदा का शव पड़ा दिखाई दिया। सूचना पर उद्योग नगर थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति की जानकारी ली। वहीं वारदात के बाद एसपी विनीत कुमार, एएसपी तेजपाल सिंह, डीवाईएसपी हवा सिंह और सदर थानाधिकारी राजपाल ने भी मौका मुआयना किया।

फोन पर सास से कहा मुझे इसके साथ नहीं रहना

चंदा और शिव कुमार की शादी करीब दस वर्ष पहले हुई थी। उनके दो बच्चे हैं। बड़ा बेटा करीब आठ वर्ष का है। शादी के करीब डेढ़ वर्ष बाद पहला बेटा होने पर चंदा और शिव कुमार के बीच झगड़ा हुआ था। इसके बाद चंदा अपने पीहर रहने लगी थी। करीब दो वर्ष बाद दोनों में समझौता हो गया। इसके बाद गृहस्थी सामान्य रूप से चलने गली।

चंदा की मां और बहन अन्नू ने बताया कि गत शाम करीब चार बजे शिव कुमार ने सास को फोन किया था। फोन पर उसने बस इतना ही कहा था कि उसे अब चंदा के साथ नहीं रहना है। इसके बाद परिवार के लोग रातभर फोन लगाने का प्रयास करते रहे। इसी आशंका के चलते मंजू देवी सीकर आई थी।

खाना बनाते समय हुई कहासुनी ने ली जान

मौके के हालात से साफ जाहिर है कि खाना बनाते समय दोनों के बीच झगड़ा हुआ है। किराए के छोटे से मकान की पहली मंजिल पर कमरे के पास रसोई में तवे पर रोटी रखी थी। इसके अलावा शव के पास बेलन पड़ा था। चंदा के दोनों हाथ की चूड़ियां भी टूटी हुई थी। ऐसे में साफ जाहिर है कि रोटी बनाने के दौरान दोनों में मारपीट और धक्का-मुक्की हुई है। रसोई के पास ही सीढ़ियों पर खून के छींटे भी पड़े मिले।

हादसे से माँ सदमे में

चंदा की हत्या के बाद उसकी मां मंजू देवी बदहवास हो गई। बार-बार एक ही बात कह रही है, क्यों मारा मेरी बेटी को। इससे अच्छा उसे घर ही भेज देता। वहीं उसकी छोटी बहन अन्नू के चेहरे पर गुस्सा था। वह पुलिस के अधिकारियों से दोषी को जल्द गिरफ्तार करने की मांग कर रही थी।

 

Hindi News से जुडे अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top