[horizontal_news id="1" scroll_speed="0.1" category="breaking-news"]
Breaking News

पांडव नगरी बरनावा में उमड़ी आस्था 

  • पावन भंडारा। यूपी में पूजनीय बेपरवाह सार्इं शाह मस्ताना जी महाराज के पवित्र अवतार माह में राम नाम की मची धूम
  • 19600 ने गुरुमंत्र प्राप्त कर नशों व सामाजिक बुराइयों से की तौबा

Barnawa, SachKahoon News: डेरा सच्चा सौदा के संस्थापक बेपरवाह सार्इं शाह मस्ताना जी महाराज के पावन अवतार माह के शुभ भण्डारे के अवसर पर रविवार को पांडव नगरी बरनावा में आस्था का अथाह समंदर उमड़ पड़ा। सर्दी व घने कोहरे के बावजूद भी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व आसपास से लाखों की तादाद में पहुंची साध-संगत ने पावन भंडारे में शिरकत कर इस पवित्र अवसर का लाभ उठाया। बरनावा आने वाले हर रास्ते पर दिखाई दे रहा था तो सिर्फ आस्था का जनसमंदर। इस पवित्र अवसर पर 25 लाख से भी अधिक श्रद्धालुओं ने शिरकत की। शाह सतनाम जी आश्रम, बरनावा में आयोजित पावन भंडारे के रूहानी सत्संग के दौरान पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने पूजनीय बेपरवाह शाह मस्ताना जी महाराज के पाक-पवित्र अवतार माह की समस्त साध-संगत को बधाई देते हुए उनके जीवन पर विस्तार से प्रकाश डाला। रूहानी सत्संग के पश्चात पूज्य गुरु जी ने 19600 नए लोगों के नशे व सामाजिक कुरीतियां छुड़ा उन्हें गुरुमंत्र प्रदान कर प्रभु-परमात्मा की प्राप्ति का बहुत ही आसान तरीका बताया।
पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि आप गुरु को मानने के साथ-साथ उनके वचनों को भी मानें। भगवान कण-कण, जर्रे-जर्रे में यानि हर जगह मौजूद है। जहां भगवान हो, वहां कभी भी बुरा काम मत करो। इंसान का मन बहुत चंचल है, मन दोस्त बनकर धोखा देता है। इसे गुरु के वचनों पर दृढ विश्वास करके सेवा-सुमिरन से काबू किया जा सकता है।
पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि इन्सान को कभी भी अहंकार नहीं करना चाहिए। कभी अपनी औकात को नहीं भुलना चाहिए। कभी भी किसी जीव का दिल नहीं दुखाना चाहिए। ईश्वर की औलाद से बेगर्ज ΄यार, मोहब्बत करें। गुरुमंत्र का जाप करें। इससे इन्सान की जिंदगी बदल जाती है। सुमिरन करने से राक्षस प्रवृति के इन्सान भी देवता बन जाया करते हैं एवं इंसान प्रभु-परमात्मा के दर्श-दीदार के काबिल बन जाता है।
पावन भण्डारे के शुभ अवसर पर पूज्य गुरु जी ने आश्रम द्वारा चलाए जा रहे मानवता भलाई कार्यों में उत्तरप्रदेश व उत्तराखंड राज्य में प्रथम स्थान पर आने वाले ब्लॉकों के जिम्मेदार सेवादारों को अपने पावन कर-कमलों से चमचमाती ट्रॉफियां व मैडल प्रदान कर सम्मानित किया। भण्डारे की समाप्ति पर समस्त साध संगत को हलवे का प्रसाद वितरित किया गया तथा लंगर समिति के हजारों सेवादारों ने लाखों की तादाद में पहुंची साध-संगत को कुछ ही समय में हल्वे का प्रशाद वितरित किया।

लाजवाब थे सभी प्रबंध
पूज्य सार्इं शाह मस्ताना जी महाराज के पावन अवतार माह का पवित्र भंडारा मनाने शाह सतनाम जी आश्रम, बरनावा में लाखों की तादाद में पहुंची साध संगत की सुविधा के लिए तमाम बंदोबस्त किए गए थे। साध-संगत के लिए पीने के पानी, प्राथमिक चिकित्सा, लंगर-भोजन, पंडाल व ट्रैफिक पंडाल समेत तमाम तरह की सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई थी। साध-संगत को चंद मिनटों में ही लंगर-भोजन खिलाने के साथ हल्वे का प्रसाद वितरित कर दिया गया। आश्रम के बाहर सड़क पर हजारों की तादाद में सेवादार ट्रैफिक कमान संभाले हुए थे। सेवादारों ने जाम को खुलवा यातायात सुचारू किया।

लोकप्रिय न्यूज़

To Top